जानलेवा हमले का प्रयास:शादी में जांच करने पहुंचे नायब तहसीलदार पर हमले का प्रयास, हाेमगार्ड ने बचाया, आराेपी काे शांतिभंग में पकड़ा

पाली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उपखंड मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर आबाद खारची गांव में बुधवार काे आयाेजित एक शादी समाराेह की जांच करने के लिए पहुंचे मारवाड़ जंक्शन के नायब तसहीलदार ओम अमृत प्रजापत के साथ एक युवक ने लाठी से वार कर जानलेवा हमले का प्रयास किया।

आराेपी ने उनकी सरकारी जीप काे भी राेककर अभद्र व्यवहार भी किया। लाठी का वार करते वक्त उनके साथ माैजूद हाेमगार्ड जवान ने पकड़ लिया। इसके बाद प्रजापत ने आकर पुलिस थाने में अपने साथ हुई हरकत काे लेकर रिपाेर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने कार्रवाई ताे की, मगर आराेपी काे शांति भंग की धारा में गिरफ्तार कर इतिश्री कर दी। काेर्ट में पेश करने पर आराेपी काे न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए। जानकारी के अनुसार खारची गांव में वीरेंद्रसिंह राजपूत के पुत्र की शादी थी। विवाह की सूचना पर नायब तहसीलदार ओम अमृत प्रजापत व उनकी टीम मौके पर निरीक्षण व कोरोना गाइडलाइन की पालना की जांच करने पहुंचे थे।

यहां पर उनकाे सभी व्यवस्थाएं दुरस्त मिली। साथ ही निर्धारित संख्या में भीड़ हाेने के साथ ही साेशल डिस्टेसिंग की पालना भी हाे रही थी। वे वहां से अपनी गाड़ी में निकलने लगे। इस बीच वीरेंद्रसिंह के भतीजे खारची निवासी रणजीतसिंह पुत्र लोकेंद्रसिंह राजपूत ने हाथ में लाठी लिए नायब तहसीलदार व उनकी टीम की ओर बढ़ने लगा।

पहले उनके साथ धक्का मुक्की करने लगा। अप्रत्याशित रूप से हुई इस हरकत से वे सकते में आ गए। आराेपी ने लाठी से वार करने का प्रयास किया। तब टीम के माैजूद होमगार्ड जवान गजेंद्र भाटी ने तत्परता दि न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेसी कर दिया गया।

शादी में सही व्यवस्था थी, युवक की गलत हरकत ने जेल पहुंचाया, लेकिन पुलिस भी दबाव में आ गई
खारची गांव में शादी समाराेह में जांच के लिए पहुंचे मारवाड़ जंक्शन नायब तहसीलदार काे वहां पर व्यवस्था सही लगी, वे वहां से रवाना भी हाे गए थे, इस बीच शराब के नशे में एक युवक लाठी लेकर पहुंच गया। वह नायब तहसीलदार काे निशाला लगाकर हमले का प्रयास कर रहा था कि वहां माैजूद हाेमगार्ड जवान ने उसे राेक लिया।

इसके बाद वे नायब तहसीलदार किसी तरह निकले, पुलिस थाने में आकर रिपाेर्ट दी। पुलिस ने रिपाेर्ट ताे ले ली, लेकिन आराेपी काे राजकार्य में बाधा, हमला करने का प्रयास करने की धाराओं में गिरफ्तार करने के बजाय शांति भंग में ही पकड़कर इतिश्री कर ली। हालांकि काेर्ट ने आराेपी काे जेल में भेजने के आदेश दिए।

खबरें और भी हैं...