पेयजल संकट को लेकर भाजपा का सांकेतिक धरना:बोले- कांग्रेस और काल में जुगलबंदी, प्रदेश सरकार के गलत निर्णय से जिले में पेयजल संकट

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धरने को संबोधित करते विधायक पारख। - Dainik Bhaskar
धरने को संबोधित करते विधायक पारख।

जिले में पेयजल संकट को लेकर सोमवार सुबह विधायक ज्ञानचंद पारख के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट के सामने भाजपा कार्यकर्ताओं ने सांकेतिक धरना दिया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा पदाधिकारियों ने पेयजल संकट के लिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहरा। उन्होंने कहा कि काल व कांग्रेस में जुगलबंदी है। कांग्रेस नेताओं ने गलत निर्णय लिए जिसका नुकसान पाली जिलेवासियों को उठाना पड़ रहा हैं। किसानों को जरुरत से ज्यादा पानी जवाई बांध से नहीं देते फिलहाल पेयजल संकट से रूबरू नहीं होना पड़ता। इसके साथ ही भाजपा पदाधिकारियों ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार को बेरोजगारी, महिला अत्याचार, नाबालिग बालिकाओं से साथ बढ़े रहे अपराध को लेकर घेरने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में प्रदेश में महिला सुरक्षित नहीं हैं।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक पारख ने पेयजल संकट के लिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में जवाई बांध में पेयजल कम आरक्षित किया। किसानों को 1300 एमसीएफटी पानी सिंचाई के लिए ज्यादा दे दिया जबकि उनकी इतनी मांग नहीं थी। सरकार की यह बेवकूफी ही जिले में पेयजल संकट का कारण बनी हैं। उन्होंने कहा किसानों को फसल बीमा की राशि व अनुदान राशि से भी वंचित रखा।

कार्यक्रम को भाजपा जिलाध्यक्ष मंशाराम परमार, नगर परिषद सभापति प्रतिनिधि राकेश भाटी, पूर्व सभापति महेन्द्र बोहरा, भाजपा महामंत्री सुनील भंडारी आदि ने संबोधित करते हुए पेयजल संकट को लेकर कांग्रेस सरकार को घेरने का प्रयास किया। कार्यक्रम में भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष मनोहर कंवर, सभापति रेखा भाटी, मानवेन्द्र सिंह रोहट, खीमाराम ढारिया, भाजपा रोहट मंडल अध्यक्ष गजेन्द्रसिंह, भाजपा एससी मोर्चा के गणपत मेघवाल, खंगाराराम पटेल, पुखराज पटेल, विकास बुबकिया, अशोक बाफना, रमेश परिहार, अशोक नाहर वायद, सुरेश चौधरी, मुकेश् नाहर, राधेश्याम चौहान, नरपत दवे कई भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सीओ सिटी निशाांत भारद्वाज के नेतृत्व में पुलिस जाप्ता तैनात रहा।

भाजपा के सांकेतिक धरने में मौजूद कार्यकर्ता।
भाजपा के सांकेतिक धरने में मौजूद कार्यकर्ता।
कलेक्ट्रेट के बाहर मटकियां फोड़ विरोध जताते हुए।
कलेक्ट्रेट के बाहर मटकियां फोड़ विरोध जताते हुए।
कम पड़ गया टेंट, तो धूप में भी बैठ गए।
कम पड़ गया टेंट, तो धूप में भी बैठ गए।
स्टेज से पीछे से कुछ इस तरह निकलती नजर आई महिला कार्यकर्ता।
स्टेज से पीछे से कुछ इस तरह निकलती नजर आई महिला कार्यकर्ता।

इन मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन
- कुड़ी से रोहट तक क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को तुरंत दुरुस्त करवाया जाए। जिससे पेयजल सप्लाई में काम आ सके।
- जोधपुर-पाली मारवाड़ इंडस्ट्रीयल कॉरिडोर के लिए बिछाई गई पाइप लाइन की क्षमता बढ़ाकर उसे रोहट तक किया जाए। जिससे रोहट क्षेत्र के गांवों में पानी पहुंचा जा सके।
- बांकली बांध में पानी हैं। उसे वायद गांव के आस-पास के गांवों में पाइप लाइन से वितरित किया जाए।
- बाणियवास, जोगड़ावास बांध से पानी की पाली शहर में सप्लाई की जाए।
- पाली शहर के परम्परागत कुएं, बावड़ियों आदि का सर्वे करवाकर साफ-सफाई करवाई जाए। जिससे इनका पानी पीने में उपयोग लिया जा सके।
- जोधपुर से प्रतिदन चार ट्रेन की जगह छह ट्रेन प्रतिदिन चलाने की व्यवस्था की जाए।
- जिले के जिन क्षेत्रों में मीठा भूजल हैं वहां ट्यूबवैल, हैण्डपम्प तुरंत खुदवाए जाए। जिससे वहां लोग पानी भर सके।
- पाली व रोहट में जहां पेयजल सप्लाई बाधित होती हो वहां टैंकरों से पानी वितरण की व्यवस्था की जाए।
- जिन परिवारों में विशेष आयोजन हैं तथा उन्हें अतिरिक्त पानी की आवश्यकता हैं उनके लिए टैंकर भरवाने की व्यवस्था की जाए।
- रोहट उपखंड में नष्ट हुई फसलों की तत्काल गिरदावरी करवाई जाए।
- रोहट से जालोर टोल रोड अत्यधिक क्षतिग्रस्त हैं। उसका तत्काल नवीनीकरण करवाया जाए। तब तक टोल वसूली बंद की जाए।
- रूडीप का 24 घंटे पेयजल व सीवरेज कार्य अत्यधिक धीमी गति से चल रहा हैं। उसकी गति बढ़ाई जाए तथा जहां सड़कें खोदी गई हैं उसे तुरंत दुरुस्त करवाया जाए।
- पात्र परिवार जो खाद्य सुरक्षा योजना के लाभ से वंचित हैं उन्हें योजना से जोड़ा जाए।

खबरें और भी हैं...