2 KM की सड़क के लिए 75 साल से इंतजार:धरने-प्रदर्शन से भी नहीं बनी बात, अब ग्रामीण बोले - सड़क बनेगी तो ही देंगे वोट

पाली7 दिन पहले
पाली जिले के वणदार (रानी) गांव के ग्रामीण कुछ इस तरह चुनाव बहिष्कार करने के बेनर लेकर गांव में घूमे।

पाली जिले के रानी के निकट वणदार गांव के ग्रामीणों सरपंच से लेकर विधायक, सांसद तक के चुनाव के बहिष्कार का फैसला लिया है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर ग्रामीण अपनी पोस्ट भी शेयर कर रहे हैं। ग्रामीणों का यह फैसला जिले भर में चर्चा का विषय बना हुआ है। गांव में कुल 979 वोटर हैं।

पाली के रानी के निकट स्थित वणदार गांव के ग्रामीणों की और से सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही ये पोस्ट।
पाली के रानी के निकट स्थित वणदार गांव के ग्रामीणों की और से सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही ये पोस्ट।

दरअसल वणदार से रायपुरिया तक महज 2 KM की सड़क निर्माण के लिए ग्रामीण पिछले करीब 75 साल से मांग करते आ रहे हैं, लेकिन उनकी बात अभी तक न किसी जनप्रतिनिधि ने सुनी और न ही किसी अधिकारी ने। ऐसे में थक हार कर वणदार के ग्रामीणों ने सर्वसहमति से निर्णय लिया कि जब तक सड़क का निर्माण नहीं होगा तब तक वे सरपंच, विधायक, सांसद सहित किसी भी तरह के चुनाव में अपने वोट का उपयोग नहीं करेंगे। बता दें कि सड़क निर्माण को लेकर गत दिनों ग्रामीणों ने धरना-प्रदर्शन भी किया था।

ग्रामीणों का कहना है कि दो किलोमीटर की सड़क चंद लाख रुपयों में बन जाती है लेकिन उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं दे रहा। उन्होंने कहा, कच्ची सड़क के कारण आना-जाना काफी मुश्किल हो गया है। यह सड़क 10 से 12 गांवों तक जाने की लिंक रोड है। रायपुरिया, वणदार के बच्चे इसी रास्ते से स्कूल जाते हैं। सड़क जगह-जगह से टूटी होने के कारण उन्हें भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

गांव की कच्ची सड़क।
गांव की कच्ची सड़क।

सड़क निर्माण के बाद ही देंगे वोट

ग्रामीणों का कहना है कि चुनाव आने वाले हैं लेकिन वे इस बार अपना वोट तभी देंगे जब इस सड़क का निर्माण होगा। अब वे आश्वासन से नहीं मानेंगे। सड़क निर्माण होने के बाद ही वोट करेंगे वरना आने वाले सभी चुनावों का सभी ग्रामीण बहिष्कार करेंगे।