पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जवाई जल का बंटवारा:जलापूर्ति में कटौती का फैसला वापस; 72 की जगह 48 घंटे में ही सप्लाई, पहले की तरह प्रति व्यक्ति 135 लीटर पानी मिलेगा

पालीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जलदाय विभाग फरवरी में करेगा पेयजल व्यवस्था को लेकर समीक्षा, जवाई बांध में जुलाई तक जलापूर्ति जितना पानी
  • सिंचाई विभाग नहर की छीजत से 250 एमसीएफटी पानी पीने के लिए बचाएगा
  • जवाई के जल बंटवारे के बाद जलदाय विभाग ने की थी जलापूर्ति में कटौती, संभागीय आयुक्त ने दिए थे जनता को पूरा पानी देने के निर्देश
  • जलदाय विभाग फरवरी में करेगा पेयजल व्यवस्था को लेकर समीक्षा, जवाई बांध में जुलाई तक जलापूर्ति जितना पानी

जिलेभर में जवाई जल के बंटवारे में पेयजल के लिए कम पानी मिलने से आमजन के विरोध के बाद संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा के निर्देश पर जलसंसाधन विभाग छीजत से 250 एमसीएफटी पानी बचाकर पेयजल के लिए देगा। इस फैसले के बाद अब शहर व जिले के गांवों में 48 घंटे के अंतराल से जलापूर्ति होगी।

वहीं हर व्यक्ति को 135 लीटर पानी प्रतिदिन के हिसाब से मिलेगा। एक दिन पूर्व ही जवाई जल बंटवारे को लेकर गत 7 अक्टूबर को हुई बैठक के मिनट्स निकाले गए थे। उसमें संभागीय आयुक्त ने जलसंसाधन विभाग को नहर की छीजत से 250 एमसीएफटी रोककर पेयजल के लिए देने की बात कही थी।

इसको लेकर शुक्रवार को कलेक्टर अंशदीप ने जलदाय विभाग के अधिकारियाें के साथ बैठक की। इसमें कलेक्टर को बंटवारे की बैठक में लिए गए निर्णय के तहत जलसंसाधन विभाग से मिलने वाले 250 एमसीएफटी के बाद की स्थिति के बारे में जानकारी दी। साथ ही बताया कि जलसंसाधन विभाग से 250 एमसीएफटी पानी मिलने के बाद जुलाई तक यानी 10 माह तक पीने योग्य पानी उपलब्ध हो सकेगा।

जलदाय विभाग ने कलेक्टर को पत्र साैंपकर एक दिन पूर्व जिलेभर में की गई कटौती के निर्णय को वापस लेकर फरवरी माह तक किसी भी प्रकार की कटौती नहीं करने का निर्णय लिया है। इससे जिलेवासियों को फरवरी माह तक पूर्व की तरह ही पेयजल सप्लाई की जाएगी।

गौरतलब है कि जवाई बांध के पानी के बंटवारे में इस बार पेयजल के लिए 2192.51 एमसीएफटी ही दिया गया था। इस निर्णय का जनता व जनप्रतिनिधि विरोध करने लगे थे। बैठक के 8 दिन बाद 15 अक्टूबर को मिनट्स की रिपोर्ट आने के बाद निर्णय में कुछ बदलाव किए गए।

प्रशासन ने बदला निर्णय, अब कैनाल छीजत से बचाएंगे पानी
जनता व जनप्रतिनिधियों के विरोध के बाद अब जलसंसाधन विभाग को कैनाल छीजत से 250 एमसीएफटी पानी बचाने के आदेश जारी कर दिए। अब 250 एमसीएफटी पानी से जुलाई तक प्यास बुझाई जा सकेगी।

बड़ा सवाल: जलसंसाधन विभाग फरवरी में देगा बचा पानी, अगर छीजत नहीं रुकी तो क्या करेंगे?
जलसंसाधन विभाग कैनाल से होने वाली छीजत से पानी बचाकर फरवरी माह में पेयजल के लिए पानी देगा। पीने के लिए यह पानी फरवरी माह में मिलेगा। फरवरी माह तक अगर विभाग के अधिकारियों ने पानी नहीं बचाया, जिले में फिर से पेयजल किल्लत के हालात बिगड़ सकते हैं। इधर, जलदाय विभाग फरवरी माह तक किसी भी प्रकार की कटौती नहीं करने का निर्णय लिया है। फरवरी माह में जलसंसाधन विभाग से 250 एमसीएफटी पानी मिलने के बाद फिर से रिव्यू किया जाएगा। इसके बाद ही आगे का निर्णय तय होगा।

पानी की कोई कमी नहीं थी, जनता और किसानों को पूरा पानी मिलेगा: डॉ. शर्मा

  • जवाई बांध जल वितरण समिति की बैठक का कार्यवाही विवरण जारी होने के बाद बनी भ्रम की स्थिति अब साफ हो गई है। हेमावास बांध से अतिरिक्त पानी एवं छीजत से बचने वाले 250 एमसीएफटी पानी को भी आरक्षित रखा है। 494.5 एमसीएफटी पानी आपातकाल में काम ले सकेंगे। अब पुन: जलापूर्ति 48 घंटे के अंतराल में करने के निर्देश दिए है। पानी की कमी थी ही नहीं। जनता और किसानों को पूरा पानी मिलेगा। - डॉ. समित शर्मा, संभागीय आयुक्त

अब पेयजल के लिए ऐसे मिलेगा पानी

2192.51 एमसीएफटी पानी जवाई से आरक्षित

230.14 एमसीएफटी पानी हेमावास से आरक्षित

2672.65 एमसीएफटी पानी पीने के लिए कुल

2072.65 एमसीएफटी पानी बचेगा छीजत के बाद

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें