डिस्कॉमकर्मियों ने ऊर्जा मंत्री की निकाली शवयात्रा:बोले, MBC मॉडल निरस्त नहीं होने पर करेंगे आंदोलन

पाली4 महीने पहले
पाली कलेक्ट्रेट के बाहर ऊर्जा मंत्री का पुतला फूंकते डिस्कॉमकर्मी।

पाली कलेक्ट्रेट के बाहर MBC मॉडल निरस्त करने की मांग को लेकर डिस्कॉमकर्मी शनिवार को भी धरने पर बैठे रहे। उन्होंने कहा कि अभी तक वे शांतिपूर्ण ढंग से धरना दे रहे हैं लेकिन उनकी मांगों को लेकर लगता है प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। ऐसा ही रहा तो वह उग्र प्रदर्शन को मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने प्रदेश सरकार और ऊर्जा मंत्री के नाम जमकर नारेबाजी की। उसके बाद ऊर्जा मंत्री की शव यात्रा निकालकर विरोध-प्रदर्शन किया। कलेक्ट्रेट से रवाना होकर वे सूरजपोल होते हुए वापस कलेक्ट्रेट आए और प्रदर्शन किया। इस दौरान बड़ी संख्या में डिस्कॉमकर्मी मौजूद रहे।

पाली कलेक्ट्रेट के बाहर धरने को संबोधित करते हुए वक्ता।
पाली कलेक्ट्रेट के बाहर धरने को संबोधित करते हुए वक्ता।

राज्य सरकार की ओर से घाटा कम करने के लिए डिस्कॉम के मॉनीटरिंग, बिलिंग और कलेक्शन कार्य ठेके पर देने के लिए 22 अगस्त को निविदा जारी की गई थी। जिसकी अंतिम तिथि 22 सितम्बर है। डिस्कॉम का निजीकरण करने से नाराज पाली ब्लॉक क 128 कार्मिक जिनमें जेईएन, राजस्व शाखा के कर्मचारी और तकनीकी कर्मचारी सभी कलेक्ट्रेट के बाहर अनिश्चितकालीन धरने बैठे है। जो सभी MBC मॉडल को निरस्त करने की मांग कर रहे है। जोधपुर डिस्कॉम बिजली कर्मचारी पाली वृत के जिला महामंत्री राजेश मेवाड़ा ने बताया कि जब तक उनकी मांगों को लेकर निस्तारण नहीं होता धरना जारी रहेगा।