मांगों को लेकर शिविरों का बहिष्कार:लागू हाे समान वेतन की नीति, सातवें केंद्रीय वेतनमान के मिले सभी परिलाभ

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के पदाधिकारियों ने ब्लॉक अध्यक्ष भंवरसिंह नरनाडी के नेतृत्व में विभिन्न मांगों को लेकर शिविरों का बहिष्कार व कलमबद्ध असहयोग करते हुए उपखंड मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करते हुए मुख्य सचिव के नाम नायब तहसीलदार गणपतसिंह जोधा को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि विभिन्न विभागों में कार्यरत कार्मिकों के लिए समान कार्य, समान वेतन की नीति लागू करने, 7वें केन्द्रीय वेतनमान के समस्त परिलाभ देने, मूल वेतन कटौती को निरस्त करने के साथ वित्त विभाग द्वारा पूर्व में जारी अधिसूचना के अनुरूप ग्रेड पे के अनुसार निर्धारित मूल वेतन के आधार पर ही मूल वेतन देने के साथ निर्धारित करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर विरोध जताते हुए शीघ्र निर्णय लेने की मांग की है। इस दौरान मीडिया प्रभारी मुकेश वैष्णव, अनिल कुमार, कैलाशदान, जीवनसिंह,मानवेन्द्रसिंह, भंवरसिंह आदि मौजूद थे। साढ़े 3 माह पहले आरआई की बाइक चोरी, नाबालिग को संरक्षण में लिया तो गैंग के साथ कई वारदात खुली जालोर | सायला पुलिस ने वाहन चोरी की गैंग का एक नाबालिग संरक्षण में लिया है। इस गैंग ने एक दर्जन से अधिक चोरी की वारदात करने की बात सामने आई है। थानाधिकारी धु्रवप्रसाद के नेतृत्व में गठित टीम ने एक किशोर को पुलिस टीम ने संरक्षण में लिया। जिस पर नाबालिग ने गैंग के साथ कई चोरी की वारदात का खुलासा िकया। वहीं पुलिस ने एक बाइक भी उसके कब्जे से बरामद की। नाबालिग ने बताया कि पाली जिले में अपने साथियाें के साथ कमटा मजदूरी करता हैं। नाबालिग बाड़मेर जिले का निवासी हैं। ऐसे में पाली में कार्य करने के बाद वापस बाड़मेर जाते समय बीच रास्ते में आने वाले कस्बों से बाइक चोरी करना स्वीकार किया। उक्त नाबालिग किशोर व उसके साथियों ने जालोर के सायला, जालोर शहर, पाली के रानी व बाड़मेर के बालोतरा में करीब एक दर्जन से अधिक बाइक चोरी करने की बात स्वीकार की। पुलिस अब नाबालिग के साथ चोरी करने वाली गैंग के सदस्यों की तलाश में जुटी है।

खबरें और भी हैं...