पंक्चर बनाने वाले की बेटी ने जीता गोल्ड:पाली की चंपा रावत ने ताइक्वांडो में लहराया परचम, अब राजस्थान की ओर से नेशनल लेवल पर खेलेंगी

पाली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाली जिले की चंपा रावत ने राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में गोल्ड जीतकर अपने पिता और जिले का नाम रोशन किया है। शनिवार के हुए इस मुकाबले में राज्य के 450 खिलाड़ियों ने भाग लिया था। जहां चंपा रावत ने 70 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता है। इसके बाद चंपा आगामी जूनियर वर्ग नेशनल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करेंगी।

पिता ने कहा- बेटी ने कभी हार नहीं मानी

चंपा के पिता केसर सिंह रावत ने बताया कि हमारी आर्थिक स्थिति उतनी अच्छी नहीं है कि हम अपनी बेटी को भरपूर डायट दे सकें। लेकिन बेटी ने फिर भी कभी हार नहीं मानी और आज शहरों से मेडल जीतकर गांव ला रही है।

कोच ने कहा- ऐसे बच्चे एक दिन देश का नाम रोशन करेंगे

चंपा के कोच अनूप आर्या ने बताया कि चंपा के पिता पंचर बनाकर अपना परिवार चलाते हैं। गरीबी के बावजूद वे अपनी बेटी को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। यदि ऐसे बच्चों को प्रायोजक मिलें तो ये एक दिन देश का नाम रोशन करेंगे।

गांव में है खुशी का माहौल

सोना जीतकर घर लौटने पर बिराठिया खुर्द के ग्रामीणों ने अपनी गोल्डन गर्ल का भव्य तरीके से स्वागत किया। इस मौके पर वर्द्धमान शिक्षा समिति के मंत्री डॉ. नरेंद्र पाखर, प्राचार्य डॉ. आर लोढ़ा, एडवोकेट पंकज मेवाड़ा आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...