जल बिन मर रही मछलियां:मंडली तालाब में पानी की कमी से मरी सैकड़ों मछलियां, ग्रामीणों में रोष

पाली।7 महीने पहले
पाली के निकट मंडली गांव के तालाब में मरी पड़ी मछलियां।

पाली शहर के निकट स्थित मंडली गांव के तालाब में पानी की कमी के चलते सैकड़ों मछलियां मर गई। इस पर ग्रामीणों में रोष हैं। उनका कहना हैं कि प्रशासन इन जलीय जीवों के प्रति ध्यान दे ओर तालाब में पानी खाली करवाएं। जिससे तालाब में पल रही मछलियों, कछुओं आदि जीव-जन्तुओं की अकाल मौत न हो।

पाली के निकट मंडली गांव के तालाब में मरी पड़ी मछलियां।
पाली के निकट मंडली गांव के तालाब में मरी पड़ी मछलियां।

दरअसल मंडली तालाब में जवाई बांध से आने वाले पानी को स्टोर किया जाता हैं। लेकिन वर्तमान में जवाई बांध खाली पड़ा हैं। पानी की आवक नहीं होने से धीरे-धीरे मंडली तालाब में भी पानी कम होता जा रहा हैं। कम पानी में ऑक्सीजन की कमी से मछलिया मर रही हैं। तालाब के किनारे मछलियों का ढेर लगा नजर आ रहा हैं। जिसमें बहुत सी बड़ी मछलियां भी शामिल हैं।

प्रशासन ध्यान दे
पूर्व पार्षद त्रिभुवनसिंह का कहना हैं कि इन जलीय जीवों को अकाल मौत से बचाने के लिए प्रशासन को सकारात्मक पहल करते हुए तालाब में पानी खाली करवाया चाहिए। जिससे तालाब में बची अन्य जीवों की जान बचाई जा सके। नहीं तो जैसे-जैस पानी कम होगा। उनकी भी अकाल मौत होगी। मंडली के नरपतसिंह चौहान का कहना हैं कि पानी की कमी से यूं जलीय जीवों को मरते नहीं देख सकते। मछलियों के मरने से तालाब किनारे बदबू फैली हैं। अन्य जलीय जीव अकाल मौत का शिकार न हो इसलिए प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए। मंडली गांव के रूपाराम घांची, चम्पालाल माधव, सोनाराम हीरागर, भंवरलाल चौकीदार, किशन गोदा, कालूराम मेघवाल आदि ने भी मछलियों की अकाल मौत पर रोष जताया।