टला हादसा:रेलवे ट्रैक से फिश प्लेट्स चुराने की फिराक में था गिराेह, तीन गिरफ्तार

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो घंटे बाद ही ट्रेन निकलनी थी, उससे पहले ही पकड़े गए आरोपी
  • मंडिया राेड गाेदाम पहुंची अारपीएफ ने जब्त किया सामान

रेलवे के ट्रैक मैंटेनर की सूझबूझ से न केवल चाेरी का प्रयास विफल हुआ, बल्कि बड़ा हादसा टल गया। घुमटी के पास दिनदहाड़े चलते रेलवे ट्रैक से लाेहा चुराने की फिराक में आया गिराेह आरपीएफ के हत्थे चढ़ गया। आरपीएफ तीनाें आराेपियाें काे गिरफ्तार कर थाने ले आई। जबकि चाेरी का सामान ऑटाे में भरकर ले जाने साथ आया एक अन्य आराेपी आरपीएफ के जवानों काे आता देख फरार हाे गया। आरपीएफ फरार आराेपी की तलाश में जुटी हुई है। आराेपी चाेरी का सामान कबाड़ी वालाें काे बेचने का काम करते थे।

एसआई सुभाष विश्नोई ने बताया कि मंडिया राेड निवासी जीवराज पुत्र बाबूलाल, मंडिया राेड स्थित न्यू प्रताप नगर के जाेगियाें का डेरा निवासी नाजू पत्नी भाेमाराम और मंडिया राेड स्थित न्यू प्रताप नगर के जाेगियाें का डेरा निवासी कमला देवी पत्नी नाथूराम काे गिरफ्तार किया। तीनाें आराेपियाें काे जाेधपुर रेलवे काेर्ट में पेश किया गया। वहां से दाेनाें महिला आराेपियाें काे जमानत मिल गई, जबकि चाेरी करने साथ आए एक अन्य आराेपी काे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। चाेरी करने आया आराेपी मंगला जाेगी फरार चल रहा है।

आरोपियों ने दाे बार चाेरी करना कबूला

पूछताछ में आराेपियाें ने पहले भी इसी तरह दाे बार चाेरी करना कबूला। इसके बाद आरपीएफ के जवान आराेपी जीवराज के मंडिया राेड स्थित गाेदाम पर पहुंचे। वहां से काफी मात्रा में चाेरी का सामान भी जब्त किया। एसआई विश्नोई ने बताया कि आराेपी पहले भी दाे बार रेलवे ट्रैक पर इसी तरह चाेरी की वारदात काे अंजाम दे चुके हैं। लेकिन तीसरी बार पुलिस ने पकड़ लिया।

इनकी सजगता से टली वारदात और बच गई कई जिंदगियां

यह है पाली मारवाड़ स्टेशन के ट्रैक मेंटेनर माेहनलाल और केरला से मुकेश गुर्जर। दाेनाें की ही सूझबूझ से न केवल चाेरी का प्रयास विफल हुआ। बल्कि ट्रेन में सवार कई यात्रियों की जिंदगी भी बचाई। जिस समय आराेपी चाेरी की वारदात काे अंजाम देने में जुटे हुए थे। इस ट्रैक से कई ट्रेनें गुजरती है। घटना गुरुवार 12.45 बजे की है। जबकि 2 बजे वहां से बीकानेर-दादर एक्सप्रेस गुजरने वाली थी। ऐसे में चाेर ट्रैक काे नुकसान कर सामान ले जाते ताे हादसा हाे सकता था।​​​​​​​

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

जानकारी के अनुसार पिछले कुछ दिनों से लूनी सेक्शन में जोगल प्लेटें और ईआरसी चोरी हो रही थी। उनको ट्रैक मेंटेनर मोहनलाल और मुकेश गुर्जर ने चाेराें काे पकड़वाया। मोहनलाल सुबह 8 बजे B-22 नंबर गेट पर ड्यूटी कर रहे थे। तब उन्हाेंने देखा कि कुछ अज्ञात लोग रेलवे लाइन पर घूमकर कुछ हरकत कर रहे हैं।

इस पर वे पास गए ताे देखा कि वे पटरियों पर ताेड़फाेड़ कर रहे थे। इस पर उन्हाेंने तुरंत आरपीएफ के एसएससी राजीव रंजन काे फाेन पर सूचना दी। इसके बाद आरपीएफ के जवानाें ने पहुंचकर आराेपियाें काे गिरफ्तार कर लिया।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...