पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भारतीय जैन संघटना की पहल:कार्यशाला में बेटियों को सिखा रहे सकारात्मक सोच रखना, रिश्तों की समझ व आत्मसुरक्षा की दे रहे सीख

पाली14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्मार्ट गर्ल ट्रेनर विनीता कोका ने शुरू की ऑनलाइन कार्यशाला, देशभर की बेटियां जुड़ीं

कोरोना के चलते भले ही लाेग घराें से कम ही बाहर निकल रहे हाें, लेकिन बेटियाें काे मजबूत, आत्मनिर्भर और आत्मविश्वासी बनाने के लिए भारतीय जैन संघटना और स्मार्ट गर्ल ट्रेनर विनीता कोका ने ऑनलाइन स्मार्ट गर्ल कार्यशाला शुरू की है। इसके माध्यम से बेटियों मार्गदर्शन कर उन्हें नई उड़ान भरने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

एक सप्ताह तक चलने वाली कार्यशाला में 6 सेशन बेटियों के लिए और अंतिम सेशन अभिभावकाें के लिए रखा गया है। कार्यशाला में देश के विभिन्न राज्यों की बेटियों ने भाग लिया, जिसमें गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली व राजस्थान मुख्य है।

पाली इशिका नाहर ने बताया कि हम जिस उम्र में हैं, उस दाैरान हमें काफी समस्याएं होती हैं और विनीता मैम ने हमारी समस्याओं को बहुत अच्छी तरह से समझा तथा उसका समाधान किया। मैं कभी इस कार्यशाला को नहीं भूल पाऊंगी।
सात दिन तक अलग-अलग विषयाें पर सेशन, देशभर की बेटियाें से चर्चा, साझा किए अपने अनुभव

1. स्वजागरूकता : पहले दिन बेटियों को स्वयं के बारे में बताया जाता है कि उनमें क्या गुण और ताकत है। क्या कमियां हैं और उन्हें कैसे दूर किया जा सकता है। और किस तरह सकारात्मक सोच कर हम जीवन में खुशियां ला सकते हैं।
2. संवाद और रिश्ते : दूसरे दिन बेटियों को बताया कि कैसे स्वस्थ संवाद से रिश्तों को मजबूत किया जाता है। गलतफहमी होने पर रिश्तों को खराब न करते हुए रिश्तों को मजबूत बनाना चाहिए।
3. मासिक धर्म और स्वच्छता : मासिक धर्म और स्वच्छता के बारे में उन्होंने बेटियों को समझाया कि किशोरावस्था के दौरान शरीर में शारीरिक मानसिक व भावनात्मक परिवर्तन होते हैं। इन परिवर्तनों को जानकर हम अपनी देखभाल अच्छी तरह से कर सकते हैं।
4. आत्मसम्मान और आत्म सुरक्षा : बेटियों को बताया गया कि उन्हें कभी अपने आत्मसम्मान को कम नहीं करना चाहिए। यदि आत्मसम्मान कम हुआ तो उसके परिणाम बहुत घातक हो सकते हैं। हमें कभी भी अपनी तुलना दूसरों से नहीं करनी चाहिए। हम जैसे हैं वैसे अपने आप को स्वीकार करना आना चाहिए। आत्मसुरक्षा का मतलब है स्वयं की सुरक्षा करना न की किसी को सबक सिखाना।
5. चयन और निर्णय : सभी की अपनी-अपनी चॉइस और निर्णय होते हैं। हमें जीवन के कुछ महत्वपूर्ण निर्णय सोच समझकर लेने चाहिए। यदि निर्णय गलत हो जाते हैं तो उसके दुष्परिणाम हमें भुगतने पड़ते हैं। बेटियों को बताया कि यदि वे स्वतंत्रता चाहती हैं तो उसके लिए पहले उनको जिम्मेदार बनना होगा।
6. मित्रता और प्रलोभन : बेटियों को बताया गया कि मित्रों का चयन कैसे करना है और किन-किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। लड़कों से मित्रता होना स्वाभाविक बात है, लेकिन हमें उसकी सीमा का ध्यान रखना चाहिए। हमारी मित्रता अच्छी है तो हमें अपने माता-पिता से उस बारे में नहीं छुपाना चाहिए।
7. अभिभावक के साथ चर्चा : अभिभावको से अपील करते हुए ट्रेनर डॉ. विनीता कोका ने बताया कि हमें अपनी बेटियों की तुलना किसी से नहीं करना चाहिए। हमें कभी उनका आत्मसम्मान कम नहीं करना चाहिए। बेटियां सच बोले तो आप उन्हें डांटे नहीं। उसे स्वीकार करें। यदि आपको उनसे कोई शिकायत है तो उन्हें अकेले में बताइए। बेटियां बहुत समझदार हैं।

  • मेरे लिए बहुत उपयोगी रही मैंने यहां बहुत सीखा और यह मेरे जीवन का सबसे अच्छा अनुभव था। विनीता कोका मैम को धन्यवाद देना चाहूंगी। - कशवी तातेड़, दिल्ली
  • मैंने इन 6 दिनों में अपने जीवन को जिया है, आज मुझे अपने पर गर्व है। मैं चाहूंगी कि इस इस तरह की कार्यशाला बार-बार होती रहे। - स्नेहा बंग, सूरत
  • इस कार्यशाला से जुड़कर मुझे बहुत अच्छा लगा। यह मेरे जीवन में मेरे मददगार होगी और हमेशा जिंदगी में निर्णय लेने में मेरी मदद करेगी। - पवित्रा मांडावत, उदयपुर
  • इस कार्यशाला से मैंने सीखा कि हमें अपनी कोई बात अपने परिजनों से नहीं छुपानी चाहिए। - नंदिका तलवार व आदिति जैन, पाली
  • अच्छे मित्रों का चयन करते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। यह कार्यशाला मुझे हमेशा याद रहेगी। पूर्वी कांठेड़, फालना
  • हमें मासिक धर्म व स्वच्छता के बारे में बताया गया। हमारे शरीर में क्या क्या परिवर्तन होते हैं और हमें उनका ध्यान कैसे रखना है। अब मैं अपना ध्यान अच्छे से रख पाऊंगी। - जयति सुराणा व दिविशा लोढ़ा, पाली
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें