• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Judge Imprisoned For 20 Years For Raping 9 year old Daughter, Said, If The Father Does Abusive Work, How Will The Daughters Be Safe, Strict Punishment

9 साल की बेटी से रेप पर 20 साल कैद:जज बोले, पिता घिनौना काम करेगा तो बेटियां कैसे रहेंगी सुरक्षित, मां ने की थी शिकायत

पाली5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेटी से रेप करने का आरोपी सौतेला पिता मोहनसिंह, जिसे 24 नवम्बर को पोक्सो कोर्ट के जज ने 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। - Dainik Bhaskar
बेटी से रेप करने का आरोपी सौतेला पिता मोहनसिंह, जिसे 24 नवम्बर को पोक्सो कोर्ट के जज ने 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई।

करीब नौ साल की मासूम बेटी से सौतेले पिता द्वारा घिनौना काम करने का मामला सामने आया है। सौतेला पिता चाकू की नोंक पर मासूम से रेप को अंजाम देता था। मामला पाली का है, जहां पोक्सो एक्ट कोर्ट ने दोषी मानते हुए 20 साल के कड़े कारावास की सजा सुनाई और साथ ही 35,100 रुपए जुर्माना भी लगाया। जज प्रहलादराय शर्मा ने आरोपी मोहनसिंह राजपूत को गुनहगार मानते हुए कहा, एक पिता जिस पर बेटी के संरक्षण, सुरक्षा की जिम्मेदारी होती है। वह ही ऐसा घिनौना काम करेगा तो बेटियां कैसे सुरक्षित रहेगी। ऐसे अभियुक्त को सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए।

बीते साल पीड़िता की मां ने दी थी अपने पति की दरिंदगी के बारे में थाने में शिकायत
कोर्ट में विशिष्ट लोक अभियोजक संदीप नेहरा ने बताया कि सांडेराव थाने की एक महिला ने 8 दिसम्बर 2020 को सांडेराव थाने में रिपोर्ट दी। जिसमें बताया कि उसके पति ने सौतेली बेटी के साथ रेप किया है। पीड़िता की मां ने रिपोर्ट में बताया था कि 7 दिसम्बर 2020 को उसे बेटी कुछ असहज लगी। उसे परेशान देख कर प्यार से पूछा तो उसने बताया कि पापा ने उसके साथ कुछ गलत किया है। नाबालिग ने बताया कि घर में सबके सोने के बाद पापा उसे हॉल में ले जाकर रेप करते थे। दीपावली के कुछ दिन बाद भी उसके साथ गलत काम किया।

धमकी देता था कि किसी को बताया तो तुझे और मां को जान से मार दूंगा
रिपोर्ट में बताया कि पापा ने उसे चाकू दिखाकर डराया। बोले- किसी को भी बताया तो तुझे व मां को जान से मार दूंगा। रिपोर्ट दर्ज होने पर पुलिस ने आरोपी सौतेले पिता को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। मामले में 24 नवम्बर 2021 को सुनवाई करते हुए पोक्सो एक्ट न्यायालय संख्या-1 पाली के विशिष्ट न्यायाधीश प्रहलादराय शर्मा ने अभियुक्त जालोर जिले के रेवतड़ा (सायला) हाल सांडेराव निवासी 29 वर्षीय मोहनसिंह पुत्र देवीसिंह राजपूत को दोषी माना। 20 साल के कठोर कारावास एवं 35 हजार 100 रुपए के जुर्मान की सजा सुनाई।

आरोपी के प्यार में फंसकर दूसरे पति को छोड़ उससे की थी लव मैरिज
नाबालिग की मां ने पहले पति की मौत के बाद दूसरे युवक से शादी की थी। इस दौरान आरोपी मोहनसिंह ने उसे अपने प्यार में फंसा लिया। वह अपने दूसरे पति को छोड़ दो बच्चों के साथ मोहनसिंह के पास चली गई। तथा उससे लव मैरिज कर ली। लेकिन मोहनसिंह की अपनी सौतेली बेटी पर गंदी नजर थी। आखिर उसने मासूम के साथ गंदा काम किया। आरोपी मोहनसिंह ड्राइविंग का काम करता है।

जज ने कहा, ऐसा घिनौना कृत्य निंदनीय और शर्मनाक

जज प्रहलादराय शर्मा ने सख्त टिप्प्णी की। जिस पिता पर नाबालिग के संरक्षण की जिम्मेदारी थी। उसके द्वारा मासूम के साथ ऐसा घिनौना कृत्य किया जाना निंदनीय, शर्मनाक है।