पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपायुक्त की कार्रवाई:अब निजी व सरकारी बसों में व्हील चेयर ले जाने और उसे रखने का स्थान चिह्नित हाेगा

पाली9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैभव भंडारी ने आयुक्त विशेष योग्यजन को राज्य में संशोधन लागू करवाने परिवाद प्रस्तुत किया था

राज्यभर में निजी व सरकारी बसों में दिव्यांगजनाें काे व्हील चेयर व बैसाखी ले जाने और उसे रखने के लिए चिह्नित स्थान की पूरी व्यवस्था की जाएगी। इससे पहले दिव्यांगजनाें के लिए यह व्यवस्था बसों में नहीं थी। केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 में नियम 62 के संशोधन अनुसार फिटनेस चेकलिस्ट में दिव्यांगजनों के अनुरुप निर्धारित मापदंड को राज्य में लागू करने के लिए वैभव भंडारी ने आयुक्त विशेषयोग्यजन, राजस्थान सरकार को परिवाद प्रेषित किया था।

जिस पर कार्रवाई करते हुए उपायुक्त, विशेष योग्यजन ने सचिव एवं आयुक्त,परिवहन विभाग से कार्रवाई करते हुए न्यायालय को अवगत करवाने को कहा है। ज्ञात रहे कि वर्ष 2019 में केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के नियम 62 में संशोधन कर फिटनेस जांच चैक लिस्ट में जाेड़ते हुए दिव्यांगजनों के लिए सार्वजनिक परिवहन की सभी बसों में दिव्यांगजन के लिए निर्धारित मापदंड होने पर ही फिटनेस सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा।

निर्धारित सुविधा जैसे रैम्प, व्हील चेयर आदि नहीं होने पर इन बसों को फिटनेस सर्टिफिकेट लेने का अधिकार नहीं होगा। वहीं नए दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के अनुसार सार्वजनिक सेवाओं को आवागमन के लिए भी सुगम्य पूर्ण बनाने का प्रावधान है। इसकाे लेकर पाली के वैभव भंडारी ने आयुक्त विशेष योग्यजन को राज्य में भी यह संशोधन लागू करवाने के लिए परिवाद प्रस्तुत करने के बाद परिवहन आयुक्त एवं शासन सचिव ने प्रादेशिक एवं जिला परिवहन अधिकारी एवं निजी फिटनेस सेंटर्स को संशोधित नियमों की अनुपालना के लिए निर्देश जारी किए हैं।

संशोधन अधिसूचना में ये प्रावधान लागू किया
केंद्र सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार 1 मार्च 2020 से प्राथमिक स्तर पर निशक्तजन यात्रियों और चलने-फिरने में असक्षम यात्रियों के लिए प्राथमिकता सीट, चिह्न, बैसाखी या छड़ी या वाकर, हैड रेल या सुरक्षित खंभे उपलब्ध होने का प्रावधान है। एक अक्टूबर से क्रम संख्या 19 के स्थान पर क्रम संख्या 20 की प्रविष्टियां स्थापित की गई है, जिसमें निशक्तजन यात्रियों और चलने-फिरने में असक्षम यात्रियों के लिए व्हील चेयर प्रवेश या स्थान या व्हील चेयर के लिए लाॅक लगाने की व्यवस्था करनी हाेगी।

खबरें और भी हैं...