मुश्किल घड़ी में सही फैसला:बांगड़ कोविड ओपीडी में लगेगी ऑक्सीजन पाइपलाइन, बेड पर गंभीर मरीजों को मिल सकेगी जीवनदायनी ऑक्सीजन

पाली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पाली। बांगड़ कोविड अस्पताल में बड़ी संख्या में  मरीज आ रहे हैं। - Dainik Bhaskar
पाली। बांगड़ कोविड अस्पताल में बड़ी संख्या में मरीज आ रहे हैं।
  • भास्कर एप पर न्यूज पब्लिश होने पर जागा अस्पताल प्रबंधन

बांगड़ अस्पताल के कोविड ओपीडी में जल्द ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाई जाएगी। जिससे की गंभीर मरीजों को वार्ड में भर्ती होने के इन्तजार में इलाज के लिए इन्तजार न करना पड़े। इसके लिए कोरोना ओपीडी में ही ऑक्सीजन पाइपलाइन लगाने की कयावद की जा रही है। सात-आठ ऑक्सीजन पॉइंट लगाए जाएंगे जिससे ज्यादा से ज्यादा गंभीर मरीजों को प्राथमिक उपचार के रूप में तुरंत ऑक्सीजन दी जा सके।

इसलिए पड़ी आवश्यकता

कोविड ओपीडी में आने वाले ज्यादातर मरीजों को सांस लेने में दिक्कत की शिकायत रहती है। अस्पताल में 283 बेड हैं जो हर समय फुल रहते हैं। ऐसे में अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचने वाले गंभीर मरीजों को भी भर्ती होने के लिए बेड खाली होने का इन्तजार करना पड़ता है।

ऐसी स्थिति में कई मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिलने के कारण मौत तक हो चुकी है। 27 अप्रैल को बांगड़ अस्पताल के कोविड ओपीडी के बाहर इलाज में देरी के चलते भर्ती होने आई वृद्धा तारादेवी की टेम्पो में ही मौत हो गई थी।

भास्कर एप ने 27 अप्रैल को इलाज के इन्तजार में ऑटो में महिला की मौत शीर्षक से खबर जारी की थी। मामला उजगार हुआ तो प्रशासन हरकत में आया तथा अब कोविड ओपीडी में ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाने की कवायद की जा रही हैं। जिससे की बेड न मिलने की स्थिति में मरीज को ओपीडी में तुरंत प्राथमिक उपचार के रूप में ऑक्सीजन मिलना तो शुरू हो जाए। जिससे उसकी जान बचाई जा सके।

बढ़ाई सिलेंडरों की संख्या भी
कोविड ओपीडी में गंभीर मरीजों के पहुंचने के कारण बुधवार को यहां सिलेंडरों की संख्या भी बढ़ी हुई नजर आई। बुधवार को पांच सिलेंडर कोविड ओपीडी में लगे नजर आए।

कर रहे हैं कार्रवाई
अस्पताल के कोविड ओपीडी में ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाने की कवायद की जा रही है जिससे की ओपीडी में ही गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन के रूप में प्राथमिक उपचार मिलना शुरू हो जाए। फिलहाल बाजार बंद हैं। ऐसे में मेटेरियल खरीदने में कुछ परेशानी आ रही है- सावण कुमार, डीआईजी स्टॉप एवं कोविड व्यवस्था प्रभारी, पाली

खबरें और भी हैं...