अशाेक गहलाेत सरकार के खिलाफ माेर्चा:मेरे मंत्री बनने में पायलट की भूमिका, अब किसी से नाराजगी नहीं बोले हेमाराम

पाली11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत सरकार के खिलाफ माेर्चा खाेलने के बाद वन एवं पर्यावरण मंत्री बने हेमाराम चाैधरी ने साफगाेई से स्वीकार किया कि उनकाे मंत्री बनाने में पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की ही भूमिका है। उन्हाेंने ही हाईकमान से बात की। चाैधरी ने कहा कि अगले विधानसभा चुनाव मेंं चेहरा तय करना हाईकमान का काम है। वर्ष 2018 के चुनाव में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पायलट ही प्रमुख चेहरा था, मगर हाईकमान का निर्णय ही अाखिर में काम अाया। पायलट का भविष्य काफी उज्ज्वल है। वे प्रदेश के बड़े नेता हाेने के साथ ही अाम जनता में उनके प्रति अपार प्रेम है। जहां भी वे जा रहे, उनके स्वागत में लाेगाें की भीड़ उमड़ना ही उनकी प्रतिष्ठा काे इंगित करता है। चाैधरी ने यह भी कहा कि अब उनकी काेई नाराजगी नहीं है। पहले भी नाराजगी काम काे लेकर थी। वन मंत्री बनने के बाद पहली बार पाली पहुंचे चाैधरी का सर्किट हाउस में कांग्रेसजनाें समेत किसान प्रतिनिधियाें ने स्वागत किया। उनकी अगुवाई भी पायलट जिंदाबाद के नाराें के साथ हुई। यहां पर उन्हाेंने पत्रकाराें से बात करते हुए कहा कि शहर में प्रदूषण काे मिटाना उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। मंत्री का कार्यभार संभालने के बाद वे सीधे ही पाली पहुंचे हैं। यहां पर सभी पक्षकाराें से बात कर इस समस्या काे पूरी तरह से खत्म करने की कार्ययाेजना बनाकर उनकाे निर्धारित टाइमलाइन में ही हल करना प्राथमिकता में शामिल है। चाैधरी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि प्रदूषण मिटाने के लिए अगर सख्ती करनी पड़ी ताे भी वे पीछे नहीं हटेंगे। चाैधरी ने पाली में कांग्रेस की हालत पतली हाेने, एक भी विधायक नहीं चुने जाने तथा कई गुटाें में संगठन बिखरे हाेने पर चिंता जताते हुए कहा कि इस हालत काे सुधारने के लिए स्थानीय कांग्रेसजनाें काे मनन करना चाहिए। गुटबाजी से ही संगठन कमजाेर हाेता है। पाली में स्थिति काफी खराब है।

2023 में पायलट का भविष्य उज्जवल, वे बड़े नेता, अाम जनता उनके साथ विभागीय अधिकारियाें की बैठक में ली प्रदूषण की जानकारी वन मंत्री ने अपने विभागीय अधिकारियाें की बैठक लेकर उनकाे अावश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। उन्हाेंने प्रदूषण काे लेकर विस्तृत चर्चा की। इस दाैरान यूअाईटी सचिव वीरेंद्र चाैधरी, एएसपी निशांत भारद्वाज, प्रदूषण नियंत्रण मंडल के अारअाे राहुल शर्मा भी माैजूद रहे। वन मंत्री शुक्रवार सुबह शहर में एक सामाजिक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद कार से जाेधपुर जाएंगे।

पायलट गुट के नेताअाें का जमावड़ा, गहलाेत समर्थकाें ने बनाई दूरी वन मंत्री के पाली पहुंचने पर कांग्रेस में स्थानीय कांग्रेस नेताअाें की गुटबाजी साफ ताैर पर नजर अाई। गहलाेत गुट के कार्यकर्ताअाें ने उनसे दूरी बनाए रखी। प्रदेश कांग्रेस की सचिव शाेभा साेलंकी, पूर्व विधायक भीमराज भाटी, भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष डाॅ. धर्मेंद्र काला, टिकैत संगठन के जिलाध्यक्ष मदनसिंह जागरवाल, नेता प्रतिपक्ष हकीम भाई, मेहबूब टी, मांगीलाल गांधी, अभिनव भंसाली, जयसिंह सुकरलाई, प्रकाश साेलंकी, चाेटिला कमेटी के सदर अमजद अली रंगरेज, गाेरधन देवासी चंद्रकांत मारू, प्रमाेद जाट, साेहनसिंह समेत काफी संख्या में कार्यकर्ता माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...