• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Preparations To Deal With Karena's Wave 3, Work Will Be Completed By October, Facilities Will Be Available In The Treatment Of Children

एसके हाॅस्पिटल में 20 बेड का एक और पीआईसीयू बनेगा:काेराेना की लहर-3 से निबटने की तैयारी, अक्टूबर तक पूरा हाे जाएगा काम, बच्चों के इलाज में मिलेगी सुविधा

पालीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की लहर-3 से निबटने के लिए एसके हाॅस्पिटल में एक और पीडियाट्रिक इंसेंटिव केयर यूनिट (पीआईसीयू) तैयार हाेगा। पीआईसीयू में 20 बेड की व्यवस्था की जाएगी। ये गहन चिकित्सा यूनिट फीमेल मेडिकल वार्ड के हाॅल में बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। पीआईसीयू का ये काम अक्टूबर में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इससे पहले एसके और जनाना हाॅस्पिटल एसएनसीयू और पीआईसीयू के 22 बेड तैयार किए जा चुके हैं। जनाना हाॅस्पिटल में 28 दिन और एसके हाॅस्पिटल में 28 दिन से बड़े बच्चाें का इलाज किया जाना प्रस्तावित है। +

20 बेड का पीआईसीयू अत्याधुनिक उपकरणाें से लैस हाेगा। पीआसीयू काे सेंट्रल ऑक्सीजन सिस्टम से जाेड़ा जाएगा। वेंटिलेटर से लेकर एपिड्यूरल इन्फ्यूजन पंप (दवा को सही मात्रा में पहुंचाने का एक सिस्टम) उपकरण लगाए जाएंगे। मल्टी पैरामीटर(ब्लड प्रेशर, धड़कन, ऑक्सीजन लेवल बताने वाला सिस्टम) नेबुलाइजर सरीखे उपकरण भी लगाए जाएंगे।

इसके अलावा एलईडी फाेटाेथैरेपी, पोर्टेबल सक्शन मशीन, पोर्टेबल एक्स-रे, सीआर सिस्टम, ऑक्सीजन हुड, सीसीटीवी, एबीजी मशीन, पल्स ऑक्सीमीटर, नियाेनेटल ईसीजी मशीन, बाईपेप मशीन, डीवीटी पंप, मोटराइज्ड बेड, माॅनिटर, सक्शन मशीन, कार्डियाे टेबल, सेंट्रल माॅनिटरिंग सिस्टम डपलप किया जाएगा।

एसके हाॅस्पिटल प्रबंधन ने 20 बेड का पीआईसीयू बनाने के लिए सिविल वर्क शुरू कराने की तैयारी कर ली है। इसी माह सिविल वर्क शुरू करने की संभावना है। गाैरतलब है कि इससे पहले जनाना और एसके हाॅस्पिटल में तीन कराेड़ रुपए की लागत से एसएनसीयू और पीईआईसीयू तैयार किए जा चुके हैं। दाेनाें जगह उपकरणाें के इंस्टाॅलेशन का काम भी पूरा हाे चुका है।

पीआईसीयू में अत्याधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे
लहर-3 काे देखते हुए एसके हाॅस्पिटल में 20 बेड के पीआईसीयू का स्वीकृति मिली है। नया पीआईसीयू बनाने काे लेकर तैयारी हाे चुकी है। फिलहाल फिमेल मेडिकल वार्ड के हाॅल में बनाया जाना प्रस्तावित है, ताकि बच्चाें के इलाज की व्यवस्थाएं हाे सके। पीआईसीयू में अत्याधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे। लहर-3 से निबटने के लिए हाॅस्पिटल ने तैयारियां कर रखी हैं। -डॉ. अशाेक चाैधरी, अधीक्षक, एसके हाॅस्पिटल

खबरें और भी हैं...