पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक का मामला:प्रधानमंत्री ही सुरक्षित नहीं है, उनकी सुरक्षा में चुक निंदनीय

पाली10 दिन पहले
ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग मंत्री रमेश चन्द मीणा।

प्रधानमंत्री देश के सर्वोच्च नागरिक हैं। उनकी सुरक्षा में चूक होना बड़ा सवाल हैं। इसकी निंदा करता हूं। जब प्रधानमंत्री ही सुरक्षित नहीं है तो इसकी जांच होनी चाहिए। दोषी साबित हो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। यह बात प्रेस वार्ता में ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग मंत्री रमेश चन्द मीणा ने कही। उन्होंने यह बात पंजाब के गुरदासपुर नेशनल हाइवे पर प्रदर्शनकारियों द्वारा रोकने से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फ्लाईओवर पर जाम में फंसने के सवाल पर कही। ढारिया ग्राम पंचायत( रानी पंचायत) के 200 बीघा गोचर गैर मुमकीन सरकारी जमीन पर पट्‌टें बांट दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस तरह की शिकायत उन्हें मिली हैं। स्टटे लेवल की कमेटी गठित कर इसकी जांच करवाएंगे। कोरोना की तैयारियों पर उन्होंने कहा कि लोगों को कोरोना गाइड लाइन की पालना को लेकर लोगों को नियमित रूप से जागरूक कर रहे हैं। प्रशासन गांवों के संग अभियान में आंकड़ों में पट्‌टे दिखाने एवं धरातल पर पट्टें कम देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसको लेकर अधिकारियों को गाइड कर सुधार करवाएंगे। शिविर में भूमाफियों द्वारा मिलीभगत कर सरकारी जमीन पर पट्टें लेने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसी कोई शिकायत आएगी तो उसकी जांच कर कार्रवाई करेंगे।

खबरें और भी हैं...