युवाओं की टोलियों ने फोड़ी दही-हांडी:पाली में ​​​​​​​कृष्ण जन्माष्टमी पर गाजे-बाजे के साथ निकाली शोभायात्रा

पाली4 महीने पहले
पाली के सोमनाथ मंदिर के बाद दही हांडी फोड़ते युवा।

कोरोना के चलते दो साल बाद कृष्ण जन्माष्टमी पर शुक्रवार को शहर में गाजे-बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा का जगह-जगह फूलों से स्वागत किया गया। झांकियां आकर्षण का केन्द्र रही। युवाओं की टोलियां हाथी-घोडा पालकी, जै कन्हैया लाल के जैकारे के साथ दही-हांडी फोड़ी।

पाली में कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में शामिल शहरवासी।
पाली में कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में शामिल शहरवासी।

युवाओं ने फोड़ी दही-हांडी
शोभायात्रा सुबह 9 बजे वंकटेश मंदिर से शोभायात्रा गाजे-बाजे के साथ रवाना हुई। शोभायात्रा भगवान श्रीकृष्ण के जीवन को बताने वाली झांकियां शामिल रहे। शोभायात्रा में शामिल रथ को युवाओं की टोलियां हाथों से खिंच कर ले जाती नजर आई। सर्राफा बाजार में नगर परिषद सभापति रेखा-राकेश भाटी के नेतृत्व में स्वागत किया गया। उसके बाद शोभायात्रा रूई कटला स्थित संतोषी माता मंदिर पहुंची। युवाओं की टोली करीब 15-20 फीट ऊंची लगी दही-हांडी फोड़ने में जुटे नजर आए। लोगों ने इसे कैमरे में कैद किया। युवाओं की टोली दो बार नीचे गिरने के बाद तीसरे प्रयास में दही हांडी फोड़ने में कामयाब रही।

पाली के रूई कटला संतोषी माता मंदिर के बाहर दही हांडी फोड़ते युवा।
पाली के रूई कटला संतोषी माता मंदिर के बाहर दही हांडी फोड़ते युवा।

जै कन्हैया लाल की गूंज
शोभायात्रा प्यारा चौक होते हुए सोमनाथ मंदिर पहुंची। दही हांडी फोड़ते युवाओं को देखने शहरवासियों की खासी भीड़ देखने को मिली। युवाओं की टोली ने हाथी-घोडा पालकी, जै कन्हैया लाल, हर-हर महादेव, जय श्रीराम जैसे नारे लगाए। शोभायात्रा वापस सर्राफा बाजार होते हुए वेंकटेश मंदिर पहुंच विसर्जित हुई।

कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में शामिल झांकी।
कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में शामिल झांकी।
पाली कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में हाथों से रथ खिंचकर ले जाते हुए श्रद्धालु।
पाली कृष्ण जन्माष्टमी पर निकाली गई शोभायात्रा में हाथों से रथ खिंचकर ले जाते हुए श्रद्धालु।