ग्रामीण आजीविका परिषद:महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रहा राजीविका मिशन, व्यवसाय कर सकेंगी

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य सरकार की अाेर से संचालित राजस्थान ग्रामीण आजीविका परिषद राजीविका हम प्रतिबद्ध ग्राम समृद्धि के थे। वाक्य के साथ ग्रामीणों के जीवन में खुशियां लाने के लिए राजीविका मिशन से जुड़ी एक टीम मगरा क्षेत्र की महिलाओं को सक्षम बनाने और स्वावलंबी बनाने के साथ खुद का व्यवसाय शुरू करने जैसी ट्रेनिंग दे रही है।

मिशन की रानू मीणा ने बताया कि राजीविका की अाेर से संचालित परियोजना के तहत महिलाओं के बनाए ग्रुप में सिर्फ कलस्टर को-ऑर्डिनेटर के रूप में 5000 रुपए का मानदेय दिया जाता है बल्कि उन्हें ऋण भी मिलता है। जिससे वे अपना व्यवसाय कर परिवार को खुशहाली की राह में लाने पर कामयाब हाे सकती है। 12वीं कक्षा तक पढ़ी लिखी महिला को समूह का अध्यक्ष बनाया जाता है।

जिससे कि वह ग्रुप का संचालन कर सके। मंगलवार को झाड़ली मानपुरा में चल रहे मनरेगा कार्य के दौरान आजीविका मिशन की टीम ने मौके पर पहुंचकर सभी महिलाओं को ग्रुप बनाने और स्वावलंबी बनने संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई। इस दौरान मिशन में कार्य कर रही सूरज रोत, कल्पना, बसंती, जसोदा परमार और रानू मीणा मौजूद थी।

खबरें और भी हैं...