लुटेरों ने बुजुर्ग के कान काटे:खेत से घर जा रहे बुजुर्ग किसान को बाइक पर बैठाने की कोशिश की, कान में पहनी सोने की बाली नहीं खुली तो खींचें, कट गए कान

तखतगढ़ (पाली)एक वर्ष पहले
लुटेरे बुजुर्ग के कान काट कर सोने की बाली ले गए।

पाली जिले के तखतगढ़ थाना क्षेत्र के पावा-कोसेलाव मार्ग पर मंगलवार देर रात दो बदमाशों ने एक बुजुर्ग के कान की सोने की बाली लूट ली। बदमाशों ने बुजुर्ग के कानों में पहनी सोने की मुरकियां (एक तरह कान की बाली जो पुरूष पहनते हैं) को खींचा। इससे दोनों का कट गए। बुजुर्ग अचेत होकर वहीं गिर गए। देर रात जब घर नहीं पहुंचे तो भतीजा खेत की तरफ गया। उसके 75 साल के चाचा बेसुध पड़े थे। इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल लाया गया। यहां उन्होंने घटना के बारे में बताया।

बुजुर्ग के कानों का उपचार करते चिकित्साकर्मी।
बुजुर्ग के कानों का उपचार करते चिकित्साकर्मी।

तखतगढ़ थाने के पावा गांव निवासी मेघाराम पुत्र चिमनाराम सीरवी (75) हमेशा की तरह मंगलवार शाम करीब सात बजे खेत से घर आ रहे थे। पावा-कोसेलाव मार्ग पर बाइक पर आए दो युवकों ने उन्हें अकेला देख बाइक पर बैठाने का प्रयास किया। कामयाब नहीं हुए तो कान में पहने सोने के जेवर लूटने लगे। कानों की मुरकियां नहीं खुली तो बदमाश हाथ से कान का निचला हिस्सा को खींचकर सोने की मुरकियां लेकर फरार हो गए। इस घटना के बाद मेघाराम अचेत अवस्था में वहीं गिर गए। देर रात को भी जब वह घर नहीं पहुंचे तो उनका भतीजा खेत पर गया। उन्हें घायल देख हॉस्पिटल ले जाया गया। मेघाराम ने पुलिस को बताया कि दो युवक थे। युवकों के हाथों में चांदी के कड़े पहने हुए थे। एक युवक ने सिर पर टोपी पहन रखी थी। थाना प्रभारी राजेंद्र चौधरी ने बताया कि बुजुर्ग के बताए हुलिए के आधार पर लुटेरों की तलाश में जुटी हैं।

पीड़ित बुजुर्ग मेघाराम
पीड़ित बुजुर्ग मेघाराम

एक ने हाथ पकड़ा और दूसरे ने कान तोड़े

खेत से आ रहे किसान को पहले बीच रास्ते रूकवाया और बाइक पर बिठाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। इस पर एक बदमाश ने उनके हाथ पकड़ लिए और दूसरा उनके कानों में पहनी मुरकियां उतारने लगा। जब उससे वे नहीं खुली तो हाथ से उसने कान के नीचे वाले हिस्से को खीचां और सोने की मुरकियां लूट फरार हो गए। इससे किसान मेघाराम के कान बुरी तरह कट गए।

खबरें और भी हैं...