RSS ने मनाया विजयादशमी उत्सव व संघ का स्थापना दिवस:वक्ताओं ने कहां शास्त्र की रक्षा के लिए शस्त्र की आवश्यकता, जात-पात को छोड़ संगठित रहने का दिया संदेश

पालीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इमानुएल मिशन स्कूल महामलक्ष्मी गार्डन के निकट मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शस्त्र पूजन करते हुए। - Dainik Bhaskar
इमानुएल मिशन स्कूल महामलक्ष्मी गार्डन के निकट मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शस्त्र पूजन करते हुए।

शहर में शुक्रवार को RSS(राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) की ओर से शहर के पांच अलग-अलग स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित कार विजयादशमी उत्सव व RSS का स्थापना दिवस मनाया गया। तथा इस दौरान शस्त्र पूजन किया गया।

इमानुएल मिशन स्कूल महामलक्ष्मी गार्डन के निकट मैदान में आयोजित कार्यक्रम में मौजूद आरएसएस कार्यकर्ता।
इमानुएल मिशन स्कूल महामलक्ष्मी गार्डन के निकट मैदान में आयोजित कार्यक्रम में मौजूद आरएसएस कार्यकर्ता।

शहर के इमानुएल मिशन स्कूल महालक्ष्मी गार्डन के निकट संत मनोहरदास के सान्निध्य में कार्यक्रम हुआ। जिसमें आरएएस के कार्यकर्ताओं ने शस्त्र पूजन किया। कार्यक्रम में संघ के जिला प्रचारक हार्दिक ने कहा कि शास्त्र की रक्षा के लिए शस्त्र उठाने की आवश्यकता पड़ी। उन्होंने कहां कि वर्तमान समय को देखते हुए हिन्दूओं को जात-पात का भेद मिटाते हुए संगठित रहने की सीख दी। उन्होंने कहा कि संगठन में ही शक्ति हैं। इसी तरह शहर के हाउसिंग बोर्ड, राजेनद्र नगर, सरस्वती स्कूल व टैगोर नगर में RSS की ओर से संघ का स्थापना दिवस व विजयादशमी उत्सव मनाय गया। जिसमें सैकड़ों स्वयं सेवकों ने भाग लिया।

कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते आरएएस कार्यकर्ता।
कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते आरएएस कार्यकर्ता।

किया शक्ति प्रर्दशन इस दौरान संघ से जुड़े कार्यकर्ताओं ने लाठी चलाने, शारीरक प्रदर्शन, योग, व्यायाम, सूर्य नमस्कार, घोष वादन आदि का प्रदर्शन किया। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में क्षेत्रवासियों की भीड़ रही।