• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Sendra Nursery Has Prepared 1.5 Lakh Paidhe, Will Be Distributed From House To House In All Villages Of Raipur And Jaitaran Tehsil

औषधीय पौधे:सेंदड़ा नर्सरी ने तैयार किए डेढ़ लाख पाैधे, रायपुर व जैतारण तहसील के सभी गांवों में घर-घर बंटेंगे

सेंदड़ा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचायत समिति स्तर पर प्रशिक्षण देकर महिलाओं को औषधीय पौधे वितरित किए

सेंदड़ा वन विभाग द्वारा तैयार किए गए। औषधीय पौधे अब घर-घर में उगाए जाएंगे, जिसकी शुरुआत सेंदड़ा ग्राम पंचायत में एक कार्यक्रम के दौरान 150 पौधे वितरित कर की गई। सरपंच रतन सिंह भाटी ने बताया कि महिला कृषक को किचन गार्डन की जानकारी के साथ ही पंचायत समिति स्तर का प्रशिक्षण आयोजित कर कृषि अधिकारियों द्वारा जानकारी देने के बाद औषधीय पौधे वितरित किए गए।

ग्राम पंचायत कार्यालय में गुरुवार को उप निदेशक कृषि एवं पदेन परियोजना निदेशक आत्मा पाली खाद्य सुरक्षा समूह महिला कृषक एवं एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित कर किचन गार्डन की जानकारी दी गई। कृषकों को अपने घरों में खेतों में स्वयं द्वारा किचन गार्डन विकसित करने पशुपालन उद्यान विकसित करना सौर ऊर्जा योजना बूंद-बूंद सिंचाई अपनाएं पानी बचाकर उत्पादन बढ़ाने के बारे में भी जानकारी दी गई और उसके साथ साथ हर घर औषधीय पौधे वितरण कार्यक्रम की शुरुआत भी की गई।

जिसमें मुख्य रूप से अश्वगंधा कालमेघ तुलसी एवं गिलोय के पौधे वितरित किए गए। और औषधीय पौधों के बारे में उनके उपयोग की जानकारी भी दी गई। कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से सरपंच रतन सिंह भाटी कृषि अधिकारी जोगिंदर सिंह सहायक कृषि अधिकारी वर्षा फानन कृषि पर्यवेक्षक जय राम चौधरी पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ इंद्रमणि त्रिपाठी सेवानिवृत्त कृषि अधिकारी सुरेंद्र सिंह राठौड़ नरेंद्र कुमार जैन विष्णु दत्त शर्मा लुंभराज काठात कृषि पर्यवेक्षक सेंदड़ा मीनू चौधरी सहित कई लोग मौके पर उपस्थित थे।

रायपुर एवं जैतारण तहसील में 19 हजार से अधिक परिवारों में वितरित होंगे पौधे
सेंदड़ा वन विभाग के वन अधिकारी राजेंद्र सिंह रावत एवं वनपाल आनंद सिंह बारहठ ने बताया कि रायपुर एवं जैतारण तहसील की सभी ग्राम पंचायतों में 19 हजार से अधिक परिवारों में औषधीय पौधे वितरित किए जाएंगे जिसके लिए प्रथम पखवाड़े में तैयार एक लाख चोपन हजार पौधे 10 अगस्त तक वितरित किए जाएंगे एवं उसके बाद दूसरे पखवाड़े में वापस 1 लाख चोपन हजार पौधे वापस तैयार कर अक्टूबर से वितरण शुरू किया जाएगा।

औषधीय पौधों में मुख्य रूप से अश्वगंधा तुलसी गिलोय एवं कालमेघ सम्मिलित हैं। कोरोना काल के समय इम्यूनिटी पावर कम होने पर जब औषधीय पेड़ों की कमी देखी गई उसी समय से वन विभाग ने प्राथमिकता से इन सभी पौधों को तैयार कर इन्हें हर घर में पहुंचा कर एक नई पहल स्थापित की है।

सेंदड़ा ग्राम पंचायत में गुरुवार से ही 150 औषधीय पौधे वितरित कर वन विभाग के लक्ष्य को पूरा करने की शुरुआत की गई। सेंदड़ा में कुल 645 परिवारों को 10 अगस्त तक पौधे दिए जाएंगे। शेष रहे परिवारों को अक्टूबर से औषधीय पौधों का वितरण शुरू किया जाएगा। अब हर घर में औषधीय पौधे लगने से औषधि की कमी नहीं रहेगी। औषधीय पौधों के साथ औषधीय पौधों की जानकारी की बुकलेट भी ग्राम पंचायत द्वारा महिलाओं को दी गई है, जिसमें औषधियों के गुण और उसके उपयोग की संपूर्ण जानकारी मौजूद है। - रतन सिंह भाटी, सरपंच ग्राम पंचायत सेंदड़ा

खबरें और भी हैं...