राज्य मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष व्यास पहुंचे सोजत:बोले; सोजत से बचपन से जुड़ाव, यहां की गलियों में बीता बचपन

सोजत (पाली)एक महीने पहले
सीओ सोजत हेमंत जाखड़ एवं SHO सोजत जसंवतसिंह राजपुरोहित ने स्वागत किया।

राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति गोपालकृष्ण व्यास मंगलवार शाम को सोजत पहुंचे। जिनका सीओ सोजत हेमंत जाखड़ एवं SHO सोजत जसंवतसिंह राजपुरोहित ने स्वागत किया। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया l इस दौरान आयोग अध्यक्ष व्यास ने कहां कि पाली जिले की गिनती शांत जिलों में होती हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनका बचपन से सोजत से नाता रहा हैं। पिताजी पंचायत समिति में नौकरी करते। सोजत की गलियों में उनका बचपन बीता। उन्होंने बताया कि उनकी मां मारवाड़ी लोक गीतों की गायक कलाकार थी। सोजत आकर उनके बचपन की यादें ताजा हो गई। इस मौके पुलिस उपनिरीक्षक महेश गोयल, मनोहरलाल मीणा, कांग्रेस नेता महेंद्र पालरिया, भाजपा नेता महेश सोनी, मोहम्मद इंसाफ, अधिवक्ता पवन दवे,पुनीत दवे, नरेंद्र सेन, एचएम दिनेश कुमावत सहित कई पुलिस कर्मी उपस्थित थेl

बोले; चाइल्ड व वूमन केसों में करें संवेदनशीलता से काम
आयोग अध्यक्ष व्यास ने सोजत के नए थाने का निरीक्षण किया। क्षेत्र में किस तरह के अपराध ज्यादा दर्ज हो रहे इसको लेकर सीओ सोजत हेमंत जाखड़ से जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने पेंडिंग केसों की भी जानकारी ली। सोजत थानाप्रभारी जसंवतसिंह राजपुरोहित, वरिष्ठ अधिवक्ता आनंद भाटी, बार अध्यक्ष गजेंद्र मेहता, ईश्वरदास पुरुषवाणी के साथ हवालात ,एचएम डेस्क, स्वागत कक्ष कंप्यूटर रूम रिकॉर्ड रूम, मालखाना, हेल्प डेस्क, ड्यूटी ऑफिसर रूम का निरीक्षण कियाl निरीक्षण के दौरान उन्होंने चाइल्ड व वुमन केस में तत्वरता व संवेदनशीलता से काम करने के निर्देश थानाप्रभारी को दिए। उन्होंने कहा कि वुमन व चाइल्ड केसों को प्राथमिकता से हल करना करें। पति-पत्नी में अनबन के केस में समझाइश कर उन्हें सुलझाने का प्रयास करें। जिससे की किसी का घर न टूटे।

(रिपोर्ट - श्याम पाराशर, सोजत)