• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Speak; Leases Are Not Being Made, There Is Encroachment On Transit, There Is No Arrangement For Drinking Water, How To Go Among The Public

मंत्री के सामने जनप्रतिनिधियों ने रखी पीड़ा:बोले; पट्‌टें बन नहीं रहे, गोचर पर अतिक्रमण हो रहा हैं, पेयजल की पुख्ता व्यवस्था नहीं, कैसे जाए जनता के बीच

पाली।5 महीने पहले
नगर परिषद सभागार में जनप्रतिनिधियों की समस्या सुनते हुए मंत्री मीणा।

ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग मंत्री रमेश चन्द मीणा शुक्रवार को अपने तय कार्यक्रम के तहत पाली पहुंचे। दोपहर में नगर परिषद हॉल में उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों की बैठक ली। जिसमें कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों ने अपनी पीड़ा व्यक्त की। बोले सरकारी की काफी जन कल्याणकारी योजनाएं हैं लेकिन धरातल पर लोगों को फायदा नहीं मिल रहा।

मंत्री मीणा की बैठक में भाग लिए बिना ही वापस जाते निवर्तमान कांग्रेस जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास।
मंत्री मीणा की बैठक में भाग लिए बिना ही वापस जाते निवर्तमान कांग्रेस जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास।

पूर्व मंत्री दिलीप चौधरी ने कहा कि जिले में गोचर भूमि अतिक्रमणियों की चपेट में हैं। प्रशासन गांवों के संग अभियान की आड़ में उस पर अतिक्रमण पर पट्टें ले रहे हैं। इसको रोका जाना चाहिए। मारवाड़ जंक्शन एमएलए खुशवीरसिंह जोजावर ने कहा कि नरेगा के तहत पहले जो पक्के निर्माण होते थे वह अब बंद कर दिए गए। उन्हें फिर से शुरू करवाया जाना चाहिए। इसके साथ ही सड़क किनारे उगी झाड़ियों कटिंग होनी चाहिए। जिससे की हादस न हो। रोहट प्रधान सुनीता कंवर राजपुरोहित ने कहा कि ग्राम पंचायत का भवन सालों से जर्जर हैं। रोहट क्षेत्र में पेयजल की भंयकर समस्या हैं। लोगों के बीच जाते हैं तो बस एक ही सवाल सूनने को मिलता हैं कि पेयजल की समस्या का समाधान कब होगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि खाद्यान सुरक्षा में जरुरतमंदों के नाम जुड़ नहीं रहे हैं। कई गाड़ी-बंगले वाले इसका लाभ ले रहे हैं। इसी क्रम में रायपुर प्रधान ने कहा कि उनकी पंचायत में अधिकतर मगरा क्षेत्र हैं। लेकिन सालों बाद भी वहां विकास नहीं हुआ। बूटीवास व कालबकला राजीव गांधी सेवा केन्द्र नहीं हैं। ग्राम पंचायतों में स्टॉफ की कमी से काम प्रभावित होते हैं। जिला प्रमुख रशिम सिंह ने कहा कि सरकारी दस्तावेज पंचायतों में सुरक्षित नहीं हैं। कई पंचायतों में पट्‌टें गायब हैं। ऐसा लगता हैं कोई संगठित गिरोह काम कर रहा हैं। पंचायतों में सरकारी दस्तावेज सुरक्षित रहे इसको लेकर काम किया जाना चाहिए। इसके साथ ही अन्य कई जनप्रतिनिधियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की समस्या बताई। बैठक में महावीरसिंह सुकरलाई, शोभा सोलंकी, कांग्रेस महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष ऐश्वर्या सांखला, प्रकाश सांखला, मुरलीमनोहर बोडा, आमीन अली, मोटूभाई, प्रकाश सांखला, भैराराम गुर्जर सहित कई जने मौजूद रहे।

नगर परिषद सभागार में मंत्री मीणा ने अधिकारियों की बैठक में काफी समय दिया। इसके चलते जनप्रतिनिधि बाहर बैठे-बैठे इन्तजार करते दिखे।
नगर परिषद सभागार में मंत्री मीणा ने अधिकारियों की बैठक में काफी समय दिया। इसके चलते जनप्रतिनिधि बाहर बैठे-बैठे इन्तजार करते दिखे।

किसी के प्रभाव में आकर नहीं जो काम सही हो वह करें
जनप्रतिनिधियों की समस्या सुनने के बाद मंत्री मीणा ने संबंधित बीडीओ से जानकारी ली। इसके साथ ही कड़े शब्दों में कहा कि सरकारी योजनाओं का आमजन तक लाभ पहुंचे इसके लिए सभी मिलकर काम करे। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि किसी के प्रभाव में आकर जनता के हित के काम करें।

पाली के सर्किट हाउस में जनसुनवाई करते हुए मंत्री मीणा।
पाली के सर्किट हाउस में जनसुनवाई करते हुए मंत्री मीणा।

बीजेपी के जनप्रतिनिधि बैठक से रहे दूर
बैठक में भाजपा विधायकों के नेम प्लेट की पटि्टयां टेबल पर पड़ी रही लेकिन उनकी सीट पर कांग्रेस पदाधिकारी जमे नजर आए। बैठक में भाजपा की जिला प्रमुख रशिम सिंह को छोड़कर भाजपा का कोई विधायक नहीं पहुंचा।

बैठक में मंत्री पहले,अधिकारी बाद में पहुंचे
ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा शुक्रवार को अपने तय दौरे के तहत पाली पहुंचे। सर्किट हाउस में कांग्रेस पदाधिकारियों के स्वागत के बाद वे नगर परिषद हॉल में आयोजित ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की योजनाओं की समीक्षा बैठक में भाग लेने पहुंचे। लेकिन वहां का नजारा कुछ ऐसा था कि वहां उन्हें रिसीव करने के लिए जिले का कोई बड़ा अधिकारी मौजूद नहीं था। आलम यह था कि जिला परिषद के सीईओ भी देरी से पहुंचे। ऐसे में नगर परिषद के फर्स्ट फ्लोर में स्थित हॉल में उन्हें कुछ समय के लिए अधिकारियों का इन्तजार करना पड़ा। आलम यह था कि हॉल की पूरी लाइट्स तक नहीं जल रही थी। जिस पर उन्होंने लाइट्स ऑन कर्रवाई। मामले में मंत्री मीणा का कहना हैं कि अधिकारी उन्हें रिसीव करने सर्किट हाउस आए थे। अधिकारी सर्किट हाउस में खाना खा रहे थे। ओर वे बाहर का खाना नहीं खाते इसलिए पहले नगर परिषद के लिए रवाना हो गए। मैंने ही अधिकारियों को बोला कि खाना खाने के बाद आ जाना।

बैठक में भीड़ देख रवाना हो गए पूर्व विधायक व निवर्तमान जिलाध्यक्ष
नगर परिषद हॉल में आयोजित जनप्रतिनिधियों की बैठक में भीड़ देखकर पूर्व विधायक भीमराज भाटी, पाली कांग्रेस के निवर्तमान जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास बैठक में भाग लिए बिना ही चले गए। चाड़वास बोले कि कोरोना चल रहा हैं। भीड़ में अपना क्या काम सर्किट हाउस में मिल लेंगे।

मंत्री हिदायत देते रहे इधर टूटते रहे सोशल डिस्टेंसिंग के नियम
मंत्री रमेशचंद मीणा अपने संबाेधन में कई बार कोरोना को लेकर सजग रहने एवं सोशल डिस्टेंसिंग की बात कहते रहें लेकिन उनके कार्यक्रम में ही सोशल डिस्टेंसिंग नदारद मिली।