VIDEO: रोहट SDM डंडा लेकर पहुंच शराब की दुकान पर:बोले- यहां बिठाकर अवैध रूप से शराब पिलाते हो, तुम्हारे कारण बढ़ रहे अपराध

पाली।6 महीने पहले
रोहट क्षेत्र में एक शराब की दुकान के निकट शराब पी रहे युवकों को भागने के लिए कुछ इस तरह हाथ में डंडा लेकर पहुंचे रोहट एसडीएम।

रोहट एसडीएम सुरेश कुमार सोमवार को हाथ में डंडा लेकर क्षेत्र में संचालित हो रही शराब की दुकानों पर पहुंचे। जहां उन्हें कई जगह दिन में ही शराब की दुकानों के निकट कुछ युवक शराब पीते नजर आए। जिन्हें डंडा दिखा उन्हें वहां से भगाया। तथा नियम विरूद्ध दुकान के पास शराब पिलाने वाले ठेकेदार को भी लताड़ लगाई। उन्होंने यहां तक कह दिया कि तुम लोगों के कारण जिले में क्राइम बढ़ रहा हैं। यहां बिठाकर शराब पिलाना बंद करो। रात आठ बजे बाद शराब नहीं बिके तो अपराध कम हो। उन्होंने वहां बैठकर शराब पीने वालों को भी डांटा तथा धारा 307 में कार्रवाई करने का डर बताया। एसडीएम का यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब देखा जा रहा हैं।

रोहट क्षेत्र में शराब के ठेके पास बैठकर शराब पीता एक युवक एसडीएम को देखकर भागते हुए।
रोहट क्षेत्र में शराब के ठेके पास बैठकर शराब पीता एक युवक एसडीएम को देखकर भागते हुए।

पटवारी-ग्राम सेवक व थानाप्रभारी को भी दिए निर्देश
एसडीएम रोहट ने पांच दिसम्बर को एक आदेश जारी किया। जिसमें उन्होंने आबकारी निरीक्षक रोहट को निर्देशित किया कि उपखंड क्षेत्र रोहट में संचालित हो रही लाइसेंसी शराब की दुकानों जानकारी देवे। इसके साथ ही अवैध रूप से कोई शराब की दुकान संचालित होने की जानकारी सामने आए तो अवगत कराने की बात कही। तहसीलदार रोहट व विकास अधिकारी पंचायत समिति रोहट को क्षेत्र में अवैध रूप से संचालित हो रहे शराब के ठेकों की जानकरी जुटा कर देने को कहा। रोहट थानाप्रभारी को भी लाइसेंसी शराब ठेकों के आस-पास गश्त बढ़ाने के लिए कहा। जिससे की रात आठ बजे बाद बिक रही शराब पर पाबंदी लगाई जा सके।

रोहट क्षेत्र में शराब के ठेके पास बिठाकर शराब पिलाने पर सेल्सकर्मी को लताड़ लगाते हुए रोहट एसडीएम।
रोहट क्षेत्र में शराब के ठेके पास बिठाकर शराब पिलाने पर सेल्सकर्मी को लताड़ लगाते हुए रोहट एसडीएम।

इसलिए SDM को निकलना पड़ा डंडा लेकर

दरअसल एक दिसम्बर को रोहट निवासी महेन्द्र मेघवाल रोहट के जालोर तिराहे पर स्थित भवानी होटल पर खड़ा था। इस दौरान दो पक्ष शराब के नश में झगड़ रहे थे। उसने बीच-बचाव कर उन्हें छुड़ाया। मामले में एक पक्ष के दो युवाओं ने नाराज होकर उससे मारपीट की। सिर में लोहे के सरिए की गंभीर चोट लगने से महेन्द्र की जोधपुर में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। मामले में दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार तो कर लिया लेकिन एक बार बात चर्चा में आ गई कि क्षेत्र में अवैध रूप से रात आठ बजे बाद शराब बिकती हैं तथा कई अवैध ब्रांचें तक शराब की दुकानों की चल रही हैं। जिससे अपराध बढ़ रहे हैं। इसको लेकर उन्होंने सोमवार को क्षेत्र का दौरान किया तथा शराब की दुकान के पास बिठाकर शराब पिलाने वालों को पाबंद किया।

खबरें और भी हैं...