पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धर्म-आस्था:सारंगवास खेतलाजी में हुई विशेष पूजा-अर्चना, छह माह बाद भोजनशाला शुरू

देसूरीएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सारंगवास खेतलाजी धाम पर भक्तों की लगी कतार, एक दिन में करीब 2000 भक्तों ने किए दर्शन, ट्रस्ट कमेटी बिना मास्क आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर में नहीं दे रहे प्रवेश

नवरात्रि के दूसरे दिन रविवार को सारंगवास खेतलाजी धाम पर भक्तों की लंबी कतार देखने को मिली है। जो 6 माह के बाद पहली बार एक साथ इतनी बड़ी संख्या में भक्त दर्शन करने के लिए खेतलधणी के दरबार में पहुंचे हैं। रविवार को करीब 2000 से अधिक भक्तों ने खेतलाजी के दर्शन किए। वहीं भक्तों की सुविधा को लेकर ट्रस्ट कमेटी ने 6 माह के बाद भोजनशाला को सरकारी गाइडलाइन के अनुसार शुरू कर दिया है।

ट्रस्ट कमेटी ने बिना मास्क मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगा रखी है। ज्ञातव्य है कि कोरोना वायरस को लेकर 22 मार्च को लॉकडाउन लगने के साथ ही सारंगवास खेतलाजी धाम को ट्रस्ट की ओर से बंद कर दिया था। पिछले 172 दिनों से खेतलाजी धाम पर भक्तों प्रवेश पर रोक लगी हुई थी। मगर सरकार की ओर से 7 सितंबर से मंदिर खोलने के आदेश जारी करने के बाद सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट कमेटी की ओर से 8 सितंबर को मंदिर खोलने का निर्णय लेकर मंदिर के द्वार भक्तों के लिए खोल दिए। जबकि प्रसाद, माला, चढ़ाने पर रोक रहेगी।

इतना ही नहीं मंदिर में लगी घंटी तक भक्तों के हाथ नहीं पहुंचे इसको लेकर लाल कपड़ा बांधा गया है। मंदिर में भक्तों की कतार पर भी पाबंदी लगा रखी थी। मगर नवरात्रि में विभिन्न प्रदेशों से हजारों की संख्या में श्रद्धालु अपने परिजनों के साथ खेतलधणी के दरबार में आते हैं। रविवार काे अवकाश का दिन होने के साथ नवरात्रा का दूसरा दिन होने के कारण सुबह से ही भक्तों का आवागमन शुरू हो गया।

वहीं दोपहर तक तो मंदिर के बाहर भक्तों की लंबी कतार लग गई। भक्तों की संख्या को देख ट्रस्ट कमेटी के पदाधिकारियों एवं कार्मिकों ने व्यवस्था को संभालते हुए बिना मास्क मंदिर पर रोक लगाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने के लिए के लिए पाबंद किया। ट्रस्ट कमेटी की ओर से खरताराम चौधरी अध्यक्ष, खरताराम मेघवाल सचिव, सोहनलाल टांक व्यवस्थापक, कल्याणसिंह सह व्यवस्थापक आदि ने व्यवस्था संभालने में सहयाेग दिया।

सीसीटीवी से रहेगी नई व्यवस्थाओं पर नजर, पहली बार भक्त मंदिर में लगी घंटी नहीं बजा पा रहे, 172 दिनों से मंदिर में भक्तों के दर्शन पर थी रोक

कोरोना महामारी के दौरान खेतलाजी का मंदिर को खोला गया है। जिसके तहत भक्तों के लिए कई नई व्यवस्थाएं ट्रस्ट की ओर से की गई। सारंगवास खेतलाजी धाम पर भी भक्तों के लिए पूजा-अर्चना,प्रसाद,घंटी बजाने पर प्रतिबंध लगा रखा है। बिना मास्क भक्तों को मंदिर पर प्रवेश पर भी रोक लगा रखी है। जिसकी पालना को लेकर ट्रस्ट कमेटी ने सीसीटीवी कैमरे लगाकर भक्तों पर नजर रख रहे।

मंदिर में प्रवेश करने से पहले भक्तों काे सर्वप्रथम वहां लगी घंटी पर सीधे हाथ चला जाता है तथा उसके बजाने के बाद मंदिर में प्रवेश करते हैं। ऐसे में ट्रस्ट कमेटी की ओर से मंदिर में लगी घंटी को बजाने पर पाबंदी लगा रखी है। इसलिए सभी घंटी पर कपड़ा लगाया गया है।

  • नवरात्रा के दूसरे दिन रविवार को खेतलाजी के दर्शन करने के लिए मंदिर के बाहर भक्तों की कतार लग गई। बिना मास्क पहुंचे भक्तों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। भक्तों के लिए ट्रस्ट की ओर से भोजनशाला को भी शुरू कर दिया है। - खरताराम चौधरी, अध्यक्ष, ट्रस्ट कमेटी खेतलाजी, सारंगवास

माताजी दरबार में गरबा नृत्य नहीं, महिलाएं कर रही भजन
नवरात्रि महोत्सव में 9 दिनों तक मां के दरबार में गरबा नृत्य की धूम मची रहती है। मगर कोविड 19 के कारण माताजी के दरबार में गरबा नृत्य का आयोजन नहीं हो रहा है। मगर शाम ढलते ही महिला श्रद्धालुओं की ओर से मां के दरबार में भजन कीर्तन के साथ मंगल गीत गाए जा रहे हैं। कोरोना महामारी के कारण पहली बार माताजी के दरबार में नवरात्रा में गरबा महोत्सव का आयोजन नहीं किया जा रहा है। मात्र सुबह शाम मां की पूजा-अर्चना की जा रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें