पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • The 85 year old Mother in law Report Came Back Positive, The Daughter in law Stayed In The Kovid Care Center For 6 Days, Both Returned Healthy

भास्कर खास:85 वर्षीय सास की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, देखभाल करने बहू 6 दिन कोविड केयर सेंटर में रही, स्वस्थ होकर दोनों घर लौटीं

पालीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वृद्धा चाैथीदेवी अपने पुत्र के सम्पर्क में आने से 3 जुलाई काे पाॅजिटिव आई, 6 दिनाें में स्वस्थ हुई

सुमेरपुर क्षेत्र के खिवांदी गांव के रामदेव गली निवासी 85 वर्षीया वृद्धा चाैथीदेवी पत्नी लच्छीराम घांची गुरुवार काे काेराेना से जंग जीतकर घर लाैटी। वे पिछले दिनाें अपने संक्रमित बेटे फुटरमल जाे कि सूरत से आए थे, उनके सम्पर्क में आने से 3 जुलाई काे पाॅजिटिव आई थी।

जहां उनकी बहू संताेष भाटी ने उनके साथ रहकर बेटी की तरह सेवा की। सास छह दिन में ही काेराेना काे हराकर घर लाैटी। अमुमन देखने में आता है कि जब से काेराेना संक्रमण फैला है लाेगाें ने अपने रिश्तेदाराें व परिजनाें से भी दूरियां बना ली है।

घर में एक संक्रमित मिलने के बाद उनसे दूर रहते हैं कि कही काेराेना से संक्रमित न हाे जाए। लेकिन खिवांदी की संताेष भाटी ने अपनी 85 वर्षीया सास चाैथीदेवी की काेराेना रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने के बाद काेविड केयर सेंटर साथ गई। वहां उन्होंने दिन-रात सास की सेवा की।  संतोष ने बताया कि जब सास काे काेराेना हुआ ताे हम दाेनाें ही घर पर थे।

पति संक्रमण के कारण जाेधपुर एम्स मे भर्ती थे, वही बच्चे सूरत थे। मैने सास काे अकेला नहीं छाेड़ा व उनके साथ काेविड केयर सेंटर गर्ई। उन्हाेंने बताया कि सास भी मां के समान ही हाेती है। मैं भगवान काे धन्यवाद देती हूं, जिन्हाेंने सास की सेवा करने का माैका दिया।

सास काे काढ़ा पिलाया, रोज समय पर दवाई दी
बहू संताेष ने समय-समय पर सास काे काढ़ा पिलाने व अन्य राेग प्रतिराेधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजाें काे खिलाया व चिकित्सकाें के बताए अनुसार समय-समय पर दवाइयां दी। जिसका नतीजा यह रहा कि इतने संक्रमिताें के बीच रहकर उन्हाेंने सिर्फ 6 दिन में काेराेना काे हरा दिया।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें