हनीट्रेप:चारों आराेपियाें की जमानत अर्जी खारिज

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हनीट्रेप में फांस कर लाेगाें के अश्लील वीडियाे बना ब्लैकमेल करने वाले गिराेह के सरगना रमेश जणवा के साथ उसकी कथित पत्नी भारती उर्फ भावना, आराेपी दिव्या और स्पा वर्कर शीतल उर्फ शिल्पा की ओर से जमानत का आवेदन काेर्ट ने खारिज कर दिया।

विशिष्ट न्यायालय, एससी-एसटी प्रकरण के विशिष्ट न्यायाधीश एमआर सुथार ने आरेापियों की ओर से पेश जमानत आवेदन काे यह कहते हुए खारिज कर दिया कि वर्तमान समय में इस तरह के मामले में बढ़ाेतरी हाे रही है, जिसके कारण समाज में विपरीत असर पड़ता है।

विशिष्ट लाेक अभियाेजक मोहम्मद साबिर ने काेर्ट में तर्क दिए कि आराेपियाें ने एक संगठित गिराेह के रुप में आपराधिक कृत्य किया। इधर, इस मामले में गिराेह में शामिल शहर के रामदेव राेड निवासी आराेपी रफीक खान उर्फ खली, इमरान खान, बाबूलाल मेघवाल तथा रानी के सरखेजड़ा निवासी गणेश देवासी की तलाश के लिए पुलिस टीमें संभावित ठिकानों पर भेजी गई है।

उल्लेखनीय है कि गिराेह में शामिल लाेग स्पा वर्कर शीतल उर्फ शिल्पा, भारती उर्फ भावना व दिव्या की मदद से शिकार फांसते थे और फिर उनके अश्लील वीडियाे बना ब्लैकमेल करते थे। पुलिस ने इस मामले में तीनाें महिलाओं समेत गिराेह के सरगना रमेश जणवा चाैधरी निवासी नारलाई काे गिरफ्तार किया।

इनसे पूछताछ में सामने आया है क ब्लैकमेल से कमाए रुपए-गहनाें के बंटवाराें में भी आराेपी बेइमानी करते थे और महिलाओं काे चंद रुपए ही देते थे। जिन लाेगाें काे आराेपी ब्लैकमेल करते थे, उनके वीडियाे-फाेटाे भी महिलाओं के बजाय गिराेह के आराेपी अपने पास रखते थे, ताकि जरूरत पड़ने पर पीड़ित लाेगाें से और वसूली की जा सके। इसी गिराेह ने गत 2 मई काे एक अधिकारी और शिक्षक काे अपना शिकार बना साेने की चेन और एक लाख 5 हजार रुपए लूट लिए।

खबरें और भी हैं...