शावकों के साथ दिखी लेपर्ड की PHOTOS:दो दिन पहले ही किया था भैंस का शिकार, गांव के लोगों ने कैमरे में किया कैद

सेंदड़ा (पाली)14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ। - Dainik Bhaskar
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।

सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव की घाटी में एक फिमेल लेपर्ड अपने दो शावकों के साथ नजर आई। इस फिमेल लेपर्ड ने दो दिन पहले एक भैंस का शिकार किया था। ग्रमीण पूनम काठात कन्या बावड़ी चांग ने बताया कि पिछले काफी दिनों से एक मादा लेपर्ड अपने शावकों के साथ क्षेत्र में घूम रही थी। दोस्त अज्जू काठात चांग के साथ उन्होंने लेपर्ड व उसके शावकों को कैमरे में कैद किया।

मादा लेपर्ड सुबह की धूप में अपने शावकों के साथ अठखेलियां करती नजर आई। क्षेत्रीय वन अधिकारी राजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मादा लेपर्ड अपने शावकों के साथ पहले भी क्षेत्र में घूमती नजर आ चुकी हैं। इनका कुनबा अब धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। रावली टॉडगढ़ अभ्यारण क्षेत्र से सटे जंगलों में अब मादा लेपर्ड और उनके शावकों की संख्या बढ़ रही हैं।

सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।

सरपंच रतनसिंह भाटी ने बताया कि जंगली जानवर आबादी क्षेत्र में न आए। इसलिए जंगल क्षेत्र और सेंदड़ा वन क्षेत्र में आने वाले जंगली एरिया में चारदीवारी का प्रस्ताव आगे भेजा हुआ है। वहां से सहमति मिलते ही शीघ्र ही चारदीवारी का निर्माण कार्य शुरू करवया जाएगा। मादा लेपर्ड और उसके शावकों का खुले में इस प्रकार विचरण करने से ग्रामीणों में भय बना हुआ है। वनकर्मियों ने ग्रामीणों को सजग रहने की सलाह दी है।

सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में बैठा लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में बैठा लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में घूमता लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में घूमता लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ घूमते लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ घूमते लेपर्ड।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अठखेलिया करते हुए।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अठखेलिया करते हुए।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।
सेंदड़ा क्षेत्र के रावली टॉडगढ़ अभ्यारण सीमा से सटे चांग गांव के निकट घाटी में लेपर्ड अपने शावक के साथ।