पदभार ग्रहण किया:सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट कमेटी की बागडाेर बालराई के हाथ में

पाली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्री सोनाणा खेतलाजी सारंगवास ट्रस्ट कमेटी को लेकर पिछले छ:वर्षो से विवाद देवस्थान विभाग में चल रहा था। ऐसे श्री सोनाणा खेतलाजी सांगरवास में व्यवस्था सुचारू रूप से चले इसको लेकर देवस्थान विभाग के आयुक्त ने देसूरी एसडीएम की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया। जो पिछले दस माह से कार्य रही थी।

मगर देवस्थान विभाग अजमेर की ओर निर्णय आने के बाद उदयपुर आयुक्त ने देसूरी एसडीएम को ट्रस्ट कमेटी के अध्यक्ष एवं कार्यकारिणी को चार्ज देने के आदेश के बाद मंगलवार को सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट कमेटी के अध्यक्ष पद गणपतसिंह बालराई ने 6 वर्षो के बाद कार्यभार ग्रहण किया। देसूरी तहसीलदार ने विधिवत रूप से अध्यक्ष बालराई को कार्यालय की चाबी और चार्ज दिया।

ज्ञातव्य है कि सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट कमेटी पर कब्जे को लेकर दो गुटों में विवाद चल रहा था। मामला देवस्थान जाेधपुर में चल रहा था। मगर एक गुट के विरोध करने पर यह मामला 2019 से जोधपुर से देवस्थान अजमेर में स्थानांतरित हो गया।

ऐसे में प्रकरण का निस्तारण नहीं होने तक देवस्थान आयुक्त उदयपुर ने ट्रस्ट का कार्य संचालित के लिए दिनांक 2 नवंबर 2020 उपखंड अधिकारी की अध्यक्षता कमेटी का गठन किया गया था। उसके बाद दिनांक 24 अगस्त 2021 को आयुक्त की ओर से जितेन्द्र गहलोत की अध्यक्षता में कोर कमेटी का भी गठन किया था।

जो प्रकरण को निस्तारण नहीं होने तक कार्य करेगी, मगर देवस्थान विभाग अजमेर ने दिनांक 21 सितंबर 20121 को सारंगवास खेतलाजी ट्रक कमेटी विवाद का निस्तारण करते हुए गणपतसिंह बालराई वाली ट्रस्ट कमेटी के पक्ष में निर्णय हुआ।

मंगलवार सुबह देसूरी तहसीलदार कैलाश इंनानिया ने सारंगवास खेतलाजी धाम पहुंचकर सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट के अध्यक्ष गणपतसिंह बालराई और कार्यकारिणी को ट्रस्ट का चार्ज साैंपा। अध्यक्ष के रूप में उन्हाेंने छ:वर्षो के बाद दूसरी बार अध्यक्ष पद का कार्यभार ग्रहण किया।

इस दौरान उपस्थित सदस्यों एवं ग्रामीणों ने ट्रस्ट अध्यक्ष बालराई का साफा एवं माला पहनाकर बहुमान किया। इस दौरान ट्रस्ट उपाध्यक्ष भगाराम चौधरी, सचिव महेश चारण, कोषाध्यक्ष खरताराम चौधरी, सहसचिव खरताराम मेघवाल, पुजारी लक्ष्मणसिंह राजपुरोहित, कार्यकारिणी सदस्य सज्जनसिंह राजपुरोहित, घीसूलाल मेघवाल शोभावास, दिनेश आदिवाल, मूलाराम मेघवाल, पूर्व संयोजक जितेन्द्र गहलोत सहित ग्रामीण लालाराम प्रजापत, पुनाराम चौधरी, हेमाराम सेवक, रमेश मेघवाल, आकाशसिंह, नृसिंह राव, मुकेश गर्ग आदि माैजूद थे। पदभार ग्रहण करते ही दस माह से बंद पड़ी भोजनशाला को श्रद्धालुओं के लिए शुरू किया।

बालराई दूसरी बार बने ट्रस्ट के अध्यक्ष

सारंगवास खेतलाजी ट्रस्ट कमेटी के अध्यक्ष पद पर गणपतसिंह बालराई सर्वप्रथम 2009 में कार्यभार ग्रहण किया था। जिनका कार्यकाल सात वर्षो तक रहा। 2015 में हुए ट्रस्ट के चुनाव में जयेंद्रसिंह गलथनी अध्यक्ष बने थे। छ:वर्षो के बाद एक फिर ट्रस्ट अध्यक्ष पद पर गणपतसिंह बालराई 28 सितंबर को पदभार ग्रहण किया।

सारंगवास खेतलाजी धाम का विकास ही मुख्य लक्ष्य

अध्यक्ष गणपतसिंह ने कहा कि सारंगवास खेतलाजी धाम का देशभर में नाम हो इसको लेकर ट्रस्ट कमेटी की ओर सारंगवास खेतलाजी धाम पर विकास कार्य करवाये जाएंगे। खेतलाजी धाम पर आने वाले भक्तों को बेहतर सुविधा मिल सके। ट्रस्ट कमेटी से मंगलवार को कार्यभार ग्रहण कर,सर्वप्रथम बंद पड़ी भोजनशाला को भक्तों के लिए शुरू किया गया।

खबरें और भी हैं...