पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

घोषणा:भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी में पाली जिले के एक भी नेता काे जगह नहीं

पाली13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाली भाजपा का गढ़, सांसद सहित 5 विधायक, निकायों में भी दबदबा, फिर भी...

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने शनिवार को बहुप्रतीक्षित प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है। इसमें 8 प्रदेश उपाध्यक्ष, 4 महामंत्री, 8 मंत्री समेत कुल 25 पदाधिकारी शामिल किए गए हैं। इसमें पाली जिले के किसी भी भाजपा नेता को जगह नहीं मिली है।

इसको लेकर स्थानीय कार्यकर्ता भी हैरत में हैं। भाजपा के गढ़ के रूप में माने जाने वाले पाली जिले में सांसद के साथ 5 विधायक हैं। पाली नगरपरिषद व सुमेरपुर में भाजपा का बोर्ड है। सोजत, तखतगढ़, सोजत निकाय भी भाजपा के कब्जे में हैं। पूर्व में पंचायत समितियों में भी भाजपा का आधिपत्य था।

ऐसे में किसी नेता या जनप्रतिनिधि को प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल नहीं करने पर कार्यकर्ताओं में ही सवाल खड़े हो रहे हैं। राजसमंद लोकसभा क्षेत्र में हमारे जिले की जैतारण विधानसभा आती है। वहां की सांसद दिया कुमारी को प्रदेश में महामंत्री जरूर बनाया है, लेकिन उनको स्थानीय चेहरे के रूप में माना नहीं जाता है, क्योंकि वे संगठन स्तर पर होने पर कार्यक्रमों में आती नहीं हैं।

कार्यकारिणी में 25 नए पदाधिकारी शामिल, पाली का एक भी नहीं

अब तक भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी में पूर्व सांसद पुष्प जैन उपाध्यक्ष पद पर काबिज थे। इससे पहले भी विधायक ज्ञानचंद पारख, पूर्व मंत्री सुरेंद्र गोयल, लक्ष्मीनारायण दवे, पूर्व नगरपरिषद सभापति महेंद्र बोहरा, गंगासिंह राजपुरोहित, पूर्व विधायक केसाराम चौधरी समेत कई नेता प्रदेश कार्यकारिणी में रहे। यह अलग बात है कि गोयल व दवे पार्टी छोड़ चुके हैं। संभवत: पहली बार हुआ है कि यहां के किसी भी नेता को प्रदेश कार्यकारिणी में स्थान नहीं मिला है।

भाजपा को पाली दे चुका प्रदेश का सीएम, प्रदेश अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तक
करीब 25 साल से पाली का राजनीतिक आभामंडल भाजपा के इर्द-गिर्द ही घूमता रहा है। बाली से जीतकर स्व. भैरोंसिंह शेखावत प्रदेश के सीएम बने थे। इसके बाद वे उपराष्ट्रपति भी बाली के विधायक रहते हुए चुने गए। इसी प्रकार प्रदेश अध्यक्ष पद पर ओम माथुर सफर तय कर चुके हैं। वे वर्तमान में भी भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी हैं।
पाली की अनदेखी पर अब उठने लगे सवाल
पहली बार भाजपा में पाली के नेताओं की प्रदेश कार्यकारिणी में उपेक्षा को लेकर सवाल उठने लगे हैं। भाजपा नेताओं के ही सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा होने के बाद से ही कमेंट होने लगे। कई कार्यकर्ताओं ने कहा कि पाली में क्या कोई भाजपा नेता प्रदेश कार्यकारिणी के लायक ही नहीं है क्या?

पूर्व उप सभापति बोहरा व पूर्व सांसद जैन रहे चुके प्रदेश उपाध्यक्ष

इससे पूर्व की प्रदेश कार्यकारिणी में पाली जिले के किसी न किसी नेता को पद जरूर दिया जाता रहा है। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी की कार्यकारिणी में पूर्व सभापति महेंद्र बोहरा को उपाध्यक्ष बनाया था। उनको जयपुर जिले का प्रभारी तक बनाया था। वहीं स्व. मदनलाल सैनी की कार्यकारिणी में पूर्व सांसद पुष्प जैन प्रदेश उपाध्यक्ष के पद पर थे।

  • यह संगठन का मामला है। इसमें संगठन के नेता ही तय करते हैं। इससे ज्यादा मैं कुछ नहीं कह सकता। - पीपी चौधरी, सांसद, पाली
  • प्रदेश कार्यकारिणी में किसको क्या जिम्मेदारी देनी है यह सब संगठन के नेता ही मिलकर तय करते हैं। - ज्ञानचंद पारख, विधायक, पाली
  • प्रदेश कार्यकारिणी संतुलित बनाई है। शीघ्र ही जिले के नेता काे भी शामिल किया जाएगा, इसकी हमें पूरी आशा है। - मंशाराम परमार, जिलाध्यक्ष
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें