प्रेमिका ने इग्नोर किया तो पत्थर से मार डाला:युवती की आईडी से ही प्रेमी ने खरीद रखी थी सिम, खुद के पर्सनल नंबर से नहीं करता था बात

पाली।25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी विक्रम (19) ने अपनी नाबालिग प्रेमिका की  
1 नवंबर को हत्या कर दी थी। - Dainik Bhaskar
आरोपी विक्रम (19) ने अपनी नाबालिग प्रेमिका की 1 नवंबर को हत्या कर दी थी।

पाली जिले के पांचलवाड़ा गांव निवासी 12वीं की छात्रा की हत्या के मामले में कई नए तथ्य सामने आए हैं। जांच में आरोपी ने बताया कि नाबालिग प्रेमिका इग्नोर करने लगी तो उसकी हत्या कर डाली। पुलिस उस तक न पहुंच सके इसलिए आरोपी ने प्रेमिका की आईडी पर ही मोबाइल सिम खरीद रखी थी। लड़की के परिवार से बचे रहने के लिए आरोपी खुद की आईडी की सिम का उपयोग प्रेमिका से बात करने के लिए नहीं करता था।

16 साल की नाबालिग ने जब शादी के लिए जोर डाला तो आरोपी मुकर गया। इस पर नाबालिग ने उससे बात करना धीरे-धीरे कम कर दिया। लड़की इग्नोर करने लगी। इसका नतीजा यह रहा कि आरोपी विक्रम माली यह सोचने लगा कि उसने किसी ओर से दोस्ती कर ली है। अब उससे बात नहीं करना चाहती। इसके चलते उसने 1 नवंबर की शाम को नाबालिग को मिलने के लिए पांचलवाड़ा गांव के पास सुनसान पानी की टंकी के पास बुलाया।

मर्डर से पहले बोला- तुम किसी और लड़के से बात करती हो
जहां विक्रम माली ने उससे कहा कि तुम किसी और लड़के से बात करती हो। इस पर दोनों में बहस हो गई। आवेश में आकर विक्रम ने एक के बाद एक पत्थर से कई वार अपनी नाबालिग प्रेमिका के सिर पर किए, जिससे उसकी मौत हो गई। मामले में पुलिस ने आरोपी को 3 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया था। जो फिलहाल 8 नवंबर तक पुलिस रिमांड पर है।

ये है मामला
दरअसल सोमवार शाम (1 नवंबर) को पाली जिले के फालना थाना क्षेत्र के पांचलवाड़ा गांव निवासी 12वीं की नाबालिग छात्रा का बिना बताए घर से निकल गई थी। 2 नवंबर की शाम को उसका शव गांव में सुनसान क्षेत्र में बनी पानी की टंकी के मिला। मामले में पुलिस ने 3 नवंबर को दांतीवाड़ा गांव निवासी 19 वर्षीय विक्रम माली पुत्र अमृतलाल माली को फालना रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया था। आरोपी मुंबई भागने की फिराक में था। आरोपी फिलहाल 8 नवंबर तक पुलिस रिमांड पर है।

राजस्थान के 5 जिलों में मौत की सौदेबाजी:घंटों पड़ी रहती है लाश, परिवार करता है मौताणा; पैसे नहीं देने पर घर जलाने का प्रावधान

खबरें और भी हैं...