कांस्टेबल भर्ती परीक्षा- लड़के को बनाया लड़की:2 हजार लड़कियों के बीच दी परीक्षा, सेंटर पर करनी पड़ी मशक्कत

पाली3 महीने पहले
पाली के बांगड़ स्कूल परीक्षा केन्द्र से परीक्षा देकर आते अभ्यर्थी।

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में शनिवार को दूसरी पारी में 2 हजार 15 लड़कियों के बीच एक अकेले लड़के को परीक्षा देनी पड़ी। पाली में आज चार सेंटरों पर दूसरी पारी केवल लड़कियों की परीक्षा थी। जिसमें वह अकेला एक लड़का था। जिससे परीक्षा में हिस्सा लिया।

हुआ यूं कि सिरोही जिले के सिवेरा गांव का रहने वाला राकेश पुत्र किशनदास BA फाइनल में पढ़ता हैं। उसने ई-मित्र पर कांस्टेबल भर्ती के लिए फॉर्म भरवाया था। ई-मित्र संचालक ने गलती से जेंडर में मेल की जगह फीमेल भर दिया। शनिवार दोपहर तीन बजे की पारी में परीक्षा देने मुकेश बांगड़ स्कूल परीक्षा सेंटर पर पहुंचा। मगर आज केवल लड़कियों की परीक्षा होने के कारण उसे प्रवेश नहीं दिया गया। उसने अपना प्रवेश-पत्र दिखाया। जिसमें आज की दिनांक व परीक्षा केन्द्र बांगड़ स्कूल लिखा था। ऐसे में काफी मशक्कत के बाद उसे परीक्षा देने जाने दिया गया। यह वाक्या परीक्षा केन्द्र पर चर्चा का विषय रहा।

सेंटर में प्रवेश के लिए करनी पड़ी मशक्कत
सिरोही के राकेश दास ने बताया कि पहले तो उसे परीक्षा केन्द्र प्रभारी को समझाना पड़ा कि उसे आज ही परीक्षा देने बुलाया गया हैं और बांगड़ स्कूल ही उसका सेंटर हैं। आज परीक्षा देने आने वाली सभी लड़कियां ही थी। ऐसे में उसे परीक्षा केन्द्र में लड़कियों के बीच बैठ परीक्षा देने में असहजता महसूस हुई।