पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

150 से ज्यादा अस्थियों को मोक्ष का इंतजार:ज्यादातर पर नहीं लिखे नाम और पते, पहचान करना मुश्किल; करीब डेढ़ साल से रखीं

पाली।23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के पंचायत समिति भवन के सामने बने हिन्दू सेवा मंडल का अस्थि कलश बैंक इन दिनों भरे पड़े हैं। हैरत की बात यह है कि यहां पडे़ करीब 150 से ज्यादा अस्थि कलश डेढ़ साल से भी पुराने हैं। अधिकतर पर नाम और मौत की तारीख नहीं लिखी है। ऐसे में परेशानी ये है कि परिजन अपनों के अस्थि कलश पहचानेंगे कैसे? वहीं, जिन अस्थि कलश को अभी तक कोई लेने नहीं आया, उनका परिवहन के साधन खुलने के बाद सेवा मंडल गंगा नदी में विसर्जन की तैयारी करेगा। जिससे कि हिंदू मान्यताओं के अनुसार इन्हें मोक्ष मिल सके।

हिन्दू सेवा मंडल के श्मशान में जलती एक चिता। फाइल फोटो
हिन्दू सेवा मंडल के श्मशान में जलती एक चिता। फाइल फोटो

हिन्दू सेवा मंडल के मुक्ति धाम में वर्तमान में 150 से ज्यादा अस्थि कलश पड़े हैं। हिन्दू सेवा मंडल अध्यक्ष अर्जुनचंद मेहता ने बताया कि हाल ही में अधिक मौतें हुई हैं। रोजाना करीब 10-12 दाह संस्कार यहां होते थे। ऐसे में मृतक के परिजनों को उसी दिन चिता से फूल एकत्रित करने का निवेदन करते थे। ऐसे में ज्यादातर लोग तो फूल घर ले गए हैं।

हिन्दू सेवा मंडल में कुछ ऐसी हालत में पड़े हैं कई अस्थि कलश।
हिन्दू सेवा मंडल में कुछ ऐसी हालत में पड़े हैं कई अस्थि कलश।

उनका कहना है कि हिन्दू सेवा मंडल में पड़े 150 से अधिक अस्थि कलशों में से ज्यादातर डेढ़ से दो साल पुराने हैं। अधिकतर पर किसी तरह का नाम तक नहीं लिखा है। करीब 20-25 कलश हाल ही में हुई मौतों के हैं। जिन पर न तो मृतक का नाम लिखा है और न मौत की तारीख। वे यह कह कर यहां अस्थि कलश रख गए हैं कि परिवहन के साधन खुलने के बाद इन्हें विसर्जन के लिए ले जाएंगे।

हिन्दू सेवा मंडल में चिताओं के लिए लड़कियां काटते श्रमिक।
हिन्दू सेवा मंडल में चिताओं के लिए लड़कियां काटते श्रमिक।

मोक्ष कलश रथ शुरू करने के लिए मुख्यालय के आदेश का इंतजार
पिछले साल भी रोडवेज ने मोक्ष कलश रथ नाम से हरिद्वार के लिए बसें शुरू की थी। ई-मित्र के जरिए रजिस्ट्रेशन करवाने वाले मृतक के परिजनों को अस्थि कलश के साथ नि:शुल्क हरिद्वार भेजा गया था। इस बार भी मोक्ष कलश रथ बस सेवा हरिद्वार के लिए शुरू करने की घोषणा हुई है। लोगों ने ऑनलाइन आवेदन भी कर रखा है। मामले में पाली डिपो की मुख्य प्रबंधक स्वाति मेहता का कहना है कि अभी तक मुख्यालय से बस हरिद्वार के लिए भेजने का आदेश नहीं आया हैं। आदेश आने का इंतजार कर रहे हैं।

हिन्दू सेवा मंडल अध्यक्ष अर्जुनचंद मेहता।
हिन्दू सेवा मंडल अध्यक्ष अर्जुनचंद मेहता।
खबरें और भी हैं...