पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Water Supply In 9 Cities And 563 Villages Of The District Since Yesterday For 72 Hours, System Will Change Again After February

जवाई से पानी कम मिलने का असर:कल से जिले के 9 शहरों व 563 गांवाें में 72 घंटे से जलापूर्ति, फरवरी बाद फिर बदलेगी व्यवस्था

पाली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाली शहर में कल से जलापूर्ति में रोज प्रतिव्यक्ति 15 लीटर कम मिलेगा पानी
  • जलदाय विभाग ने कलेक्टर अंशदीप को सौंपी रिपोर्ट, कल से कटौती के साथ होगी जलापूर्ति

जवाई बांध में इस बार पर्याप्त पानी होने के बावजूद पेयजल के लिए कम पानी आरक्षित होने का असर शुरू हो गया है। जलदाय विभाग ने 15 अक्टूबर से जवाई से जुड़े सभी शहरों व गांवों में पेयजल कटौती करना शुरू करेगा। पाली शहर में जहां प्रति व्यक्ति प्रतिदिन दिए जाने वाले पानी में 12 प्रतिशत तो अन्य शहरों व गांवों में 20 प्रतिशत की कटौती की जाएगी।

यह व्यवस्था 15 अक्टूबर से शुरू होगी। जवाई से पेयजल के लिए आरक्षित हुए पानी से आगामी गर्मियों तक जिलेवासियों की प्यास बुझाने के लिए जलदाय विभाग ने कलेक्टर अंशदीप को रिपोर्ट पेश की है। इसके अनुसार पाली शहर में रूडिप के 24 घंटे जलापूर्ति का प्रोजेक्ट चालू होने के चलते प्रतिदिन प्रतिव्यक्ति के हिसाब से 12 प्रतिशत की कटौती की है, लेकिन जलापूर्ति 48 घंटे के अंतराल में ही दी जाएगी।

साथ ही जवाई से जुड़े अन्य 9 शहरों में 20 प्रतिशत कटौती के साथ 72 घंटे में एक बार सप्लाई और 563 गांवों में 21 प्रतिशत कटौती के साथ 72 घंटे में एक बार सप्लाई देने का प्लान तैयार किया है। जलदाय विभाग द्वारा कलेक्टर को सौंपी गई रिपोर्ट में स्पष्ट कहा है कि विभाग द्वारा जुलाई 2021 तक मौजूदा पानी में पेयजल व्यवस्था के प्रयास करेगा, लेकिन आवश्यक हाेने पर विभाग वाटर ट्रेन व टैंकराें से जल परिवहन को भी प्रस्तावित करेगा।

पाली शहर में ऐसे देंगे सप्लाई
135 लीटर प्रतिदिन प्रतिव्यक्ति दिया जा रहा था, जो अब 120 लीटर प्रतिदिन प्रतिव्यक्ति दिया जाएगा, यह सप्लाई 48 घंटे में एक बार होगी।
9 शहरों में ये रहेगी व्यवस्था
सुमेरपुर, रानी, फालना, बाली, सोजत, जैतारण, मारवाड़, तखतगढ़ और सिरोही के शिवगंज में पहले 100 एलपीसीडी के स्थान पर 80 एलपीसीडी पानी देंगे, जो 72 घंटे के अंतराल में सप्लाई होगा।
और 563 गांवों में ऐसे सप्लाई
70 एलपीसीडी के स्थान पर 55 एलपीसीडी के हिसाब से पेयजल आपूर्ति की जाएगी। इसके अलावा स्थानीय स्रोतों से भी पेयजल व्यवस्था होगी।

जवाई व अन्य बांधों से फरवरी माह तक 288 एमसीएफटी पानी का वाष्पीकरण जवाई से जुड़े पाली शहर समेत 9 अन्य शहर और 563 गांवों में 15 अक्टूबर से 137 दिन यानी, फरवरी माह तक 691.85 एमसीएफटी पानी पेयजल के लिए खर्च होगा। इसके अलावा 288 एमसीएफटी पानी का वाष्पीकरण भी होगा। एेसे में जवाई व हेमावास में मौजूद जल से फरवरी माह तक 979.85 एमसीएफटी पानी खर्च होगा।

ये रहेगा पानी का गणित

  • 978.85 एमसीएफटी पानी फरवरी 2021 तक खर्च होगा।
  • 2342.51 एमसीएफटी पानी उपलब्ध है, जिसमें जवाई में 2192.51 एमसीएफटी और हेमावास में 150 एमसीएफटी।
  • फरवरी के बाद सिर्फ जवाई में बचे 1362.66 एमसीएफटी पानी से ही जुलाई तक जलापूर्ति की जाएगी।

50 हजार किसानों के लिए 15 लाख से अधिक जिलेवासियों की प्यास का सौदा पड़ रहा भारी

जवाई बांध से पानी के बंटवारे में इस बार पेयजल के लिए प्राथमिकता के आधार पर पानी आरक्षित नहीं करने के चलते अब जिले की 15 लाख से अधिक जनता को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ेगा।

संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा द्वारा जवाई से जुड़े करीब 50 हजार किसानों काे सिंचाई के लिए 4 हजार एमसीएफटी पानी देने और पेयजल के लिए 2192.51 एमसीएफटी ही रिजर्व रखने से जिलेवासियों में आक्रोश फैलता जा रहा है। अब स्थिति यह हो गई गुरुवार से ही जलदाय विभाग पाली शहर समेत जिलेभर में पेयजल कटौती करने का निर्णय ले चुका है।

शहर में कटौती के साथ 48 घंटे से होगी जलापूर्ति

  • जवाई बांध से इस बार पेयजल के लिए कम पानी मिलने पर 15 अक्टूबर से शहर समेत जिलेभर में पेयजल कटौती शुरू की जा रही है। गर्मियों तक जिलेवासियों की प्यास बुझाने अभी से कटौती करना जरूरी है। रिपोर्ट बनाकर कलेक्टर को सौंपी है। पाली शहर में 48 घंटे में सप्लाई होगी, लेकिन पेयजल में कटौती की है। जवाई से जुड़े शहरों व गांवों में 72 घंटे में एक बार सप्लाई करने के साथ पेयजल में भी कटौती की है। व्यवस्था फरवरी तक रहेगी। - रामलाल बैरवा, एसई, जलदाय विभाग, पाली
खबरें और भी हैं...