छात्रों ने मांगों का ज्ञापन भी सौंपा:महाविद्यालय के लिए जालेरा में आरक्षित भूमि के विराेध में छात्रों ने किया प्रदर्शन

रानीवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एबीवीपी सहित कई छात्राें ने बुधवार को राजकीय कॉलेज के लिए आरक्षित भूमि काे लेकर विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों का कहना है कि रानीवाड़ा उपखंड से 8-9 किमी दूर जालेरा कल्ला में सरकारी महाविद्यालय भूमि आवंटन किया गया हैं। जिससे छात्रों को परेशानी होगी।

छात्र नेता वीर बहादुर सिंह, महेंद्र प्रजापत, निलेश सोनी, जितेंद्र सिंह डाबी, योगेश परमार ने बताया कि रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय पर वित्तीय वर्ष 2017-18 में नवीन राजकीय महाविद्यालय स्वीकृत हुआ था शैक्षणिक सत्र 2018 19 से राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रानीवाड़ा में भवन में ही उक्त महाविद्यालय में छात्र छात्राओं को प्रवेश दिया जा कर अध्यापन कार्य भी प्रारंभ कर दिया गया है परंतु 4 वर्ष बीत जाने के उपरांत भी महाविद्यालय के भवन निर्माण हेतु अभी तक राशि स्वीकृत नही की गई है।

ज्ञापन में बताया कि महाविद्यालय को भूमि आवंटन हेतु तहसीलदार रानीवाड़ा एवं पटवारी रानीवाड़ा ने मौका स्थिति देखकर मौजा डॉट वाडिया ग्राम पंचायत आजाेदर के खसरा नंबर 8 रकबा 6.15 हेक्टेयर गैर मुमकिन ओरण में से सरकारी महाविद्यालय के भवन निर्माण हेतु भूमि आवंटित किए जाने का प्रस्ताव दिया।

रानीवाड़ा के पास 1 किलोमीटर की दूरी पर पूर्ण रूप से आरक्षित भूमि डोडवाड़िया जहां पर तहसीलदार कार्यालय,उपखंड अधिकारी कार्यालय, वन विभाग कार्यालय ,जल विभाग कार्यालय, आईटीआई, मॉडल स्कूल, पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय एवं निवास वहां पर स्थित है। उपखंड मुख्यालय पर पुलिस थाना ,राजकीय हॉस्पिटल, पोस्ट ऑफिस व कई अन्य सेवाएं भी उपलब्ध है।

लेकिन जालेरा कल्ला सुविधा एवं सुरक्षा की दृष्टि से कोई विशेष इंतजाम उपलब्ध नहीं है। इस मौके पर राजपूत छात्रावास, राजपुरोहित छात्रावास, चौधरी छात्रावास के समस्त राजकीय महाविद्यालय के छात्र एवं एबीवीपी छात्र संगठन के वीरबहादुरसिहं देवडा, महेन्द्र प्रजापत ,निलेथ सोनी, विक्रम माली ,योगेश, इकबाल खान ,राहुल सेन ,मुकेश चौधरी ,मुकेश गोयल ,नरेश गोयल ,विपुल ,ललित राणा, नहुश ,कुनाल जोशी, हर्षवर्धन सिह, महेंद्र भाटी, आकाशसिह, पिन्टुसिह, पारस चोधरी, भवानी सिंह सुरावा, महावीर सिंह मेडक, मदन सिंह तेजावास, मोंटू सिंह तेजावास, सोमरत सिंह मेडक, इन्द्र सिंह सेवाडा, महीपाल सिंह मेडक सहित कई छात्र उपस्थित थे।

छात्राें की सुविधाओं के अनुसार हाे भूमि आवंटन

छात्रों ने बताया कि 2 माह पूर्व राजनीतिक द्वेषतावश मौजा डोडवाड़िया में महाविद्यालय हेतु आरक्षित भूमि के स्थान पर जालेरा कल्ला में भूमि आवंटन का प्रस्ताव जिला कलेक्टर जालौर, को भिजवाया गया है जबकि पूर्व में आरक्षित भूमि आज भी यथास्थिति अनुसार खाली पड़ी है।

जालेरा में काॅलेज बनने से आसपास के गांवों से आने वाले कहीं छात्र छात्राओं को पैदल चलकर 8 से 9 किलोमीटर महाविद्यालय जाना पड़ेगा। वहां पर कोई गाड़ी की सुविधा उपलब्ध है और नहीं कोई सुरक्षा की सुविधा उपलब्ध है।

जिसमें छात्रा वर्ग को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे भी हमारे यहां पर लड़कियों को इतनी दूरी और एकांत जगह पर पढ़ाई करने के लिए भेजना उचित नहीं हो सकता जिसमें कई लड़कियों की पढ़ाई भी वंचित रह सकती है।

खबरें और भी हैं...