पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आत्मनिर्भर भारत अभियान:प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत आत्मनिर्भरता की तरफ तेजी से आगे बढ़ रहा है : सांसद

रेवदरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना महामारी से लड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा अभियान

क्षेत्रीय सांसद देवजी पटेल ने शुक्रवार को रेवदर में पत्रकारों से प्रेस वार्ता की। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ कोरोना महामारी से लडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। ‘वोकल फॉर लोकल मेक इट ग्लोबल’ अभियान व्यवसायियों और उद्योगों को सशक्त बनाएगा। प्रधानमंत्री ने देश के गरीबों, दलितों, वंचितों, श्रमिकों एवं किसानों के लिए लोक कल्याणकारी कदम उठाए। वन नेशन-वन मार्केट एवं फसलों के समर्थन मूल्य में वृद्धि से किसानों को आर्थिक संबल मिलेगा।

सांसद पटेल ने बताया कि जन-धन खाता धारकों के खाते में 500 रुपए की 3 किश्तें, वहीं उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ से अधिक महिलाओं को 3 गैस सिलेंडर मुफ्त दिए गए एवं अगले 3 माह भी मुफ्त सिलेंडर उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि दिव्यांग, विधवा व बुजुर्गों को 1,000 रुपए की आर्थिक सहायता से 3 करोड़ लोगों को लाभ प्राप्त हुआ। सांसद ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना अपने आप में एक क्रान्तिकारी एवं देश के जरूरतमंदों, गरीबों एवं प्रवासियों के लिए आर्थिक संबल देने का सराहनीय कदम है।

रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया-एफडीआई के कारण से भारत की अन्य देशों पर हथियारों एवं रक्षा उपकरणों की निर्भरता समाप्त होगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रवासियों एवं गरीबों के लिए कम किराए वाले आवासीय परिसरों का विकास किया जाएगा, जो कि मजदूरों को राहत प्रदान करेगा। प्रेसवार्ता के दौरान विधायक जगसीराम कोली, विधायक समाराम गरासिया, भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित सहित पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।
रेवदर में रीको क्षेत्र बनाने की मांग, सांसद को ज्ञापन सौंपा

लघु उद्योग भारती मंडल रेवदर के अध्यक्ष प्रतापराम लोहार ने सांसद देवजी पटेल को उपखंड मुख्यालय रेवदर पर रीको क्षेत्र बनाने की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि रेवदर में रीको क्षेत्र नहीं होने के कारण क्षेत्रवासियों को रोजगार के लिए बाहर जाना पड़ता है। यहां रोजगार के लिए सेलवाड़ा माइंस से मार्बल के ब्लॉक निकल कर बाहर जाते हैं अगर रीको क्षेत्र होता तो रेवदर उपखंड स्तर पर उद्योग लगते और क्षेत्रवासियों को रोजगार मिलता।

रेवदर मूंगफली, अरंडी, आलू, टमाटर और सौंप की बंपर पैदावार होती है, लेकिन रेवदर क्षेत्र में रीको क्षेत्र नहीं होने से आमजन पर दोहरी मार पड़ रही है। ज्ञापन में बताया कि क्षेत्र में एक कोल्ड स्टोरेज की भी आवश्यकता है, क्योंकि क्षेत्र के किसानों का कच्चा माल क्षेत्र में कोल्ड स्टोरेज नही होने की मजबूरी में गुजरात राज्य भेजना पड़ता है, जिसमें किसानों को काफी परेशानियों व कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें