पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हालत बदहाल:विधायक जगसीराम कोली ने क्षतिग्रस्त माइनिंग सड़कों का विधानसभा में उठाया मुद्दा

रेवदर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि रेवदर की माइनिंग सड़को की हालत बदहाल

विधानसभा क्षेत्र की क्षतिग्रस्त माइनिंग सड़कों की समस्या को लेकर रेवदर विधायक जगसीराम कोली ने विधानसभा सत्र के दौरान सोमवार को प्रक्रिया व कार्य संचालन के नियमों के तहत विशेष उल्लेख प्रस्ताव के माध्यम से मुद्दा उठाया। इसमें विधायक ने बताया कि पूरे सिरोही जिले में सबसे अधिक माइनिंग रेवदर विधानसभा क्षेत्र में होने के कारण सरकार के डीएमटी फंड राशि में सबसे बड़ी हिस्सा राशि रेवदर से ही जमा होती आ रही है, लेकिन बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि रेवदर की माइनिंग सड़को की हालत बदहाल है।

रेवदर सेलवाड़ा संपर्क सड़क, आबूरोड वाया रामपुरा खेड़ा से मकावल सड़क, मंडार से गुंदवाड़ा सड़क, मगरीवाड़ा समेत अन्य माइनिंग सड़के 2019 से बूरी तरह से क्षतिग्रस्त हालत में है। इन माइनिंग सड़कों से प्रतिदिन बड़ी संख्या में खनन परिवहन के साथ क्षेत्रीय आमजन से जुड़े परिवहन के साधनों का आवागमन रहता है, इन सड़कों को डीएमएफटी फंड से मजबूत ग्राउंड के साथ बनाकर पुनः डामरीकरण के लिए बतौर क्षेत्र विधायक में निरंतर सरकार से गुहार लगाने के बावजूद सरकार ने सिरोही जिले के डीएमएफटी फंड को खुर्द बुर्द करने के लिए अनुपयोगी क्षेत्र में खर्च करने के प्लान व स्वीकृतियां जारी करती रही है। पूर्व में स्वीकृतशुदा माइनिंग सड़कों पर आजतक उन्होंने डामरीकरण का कार्य शुरु नहीं किया है। सरकार से प्राथमिकता के साथ रेवदर विधानसभा क्षेत्र की प्रत्येक क्षतिग्रस्त माइनिंग सड़क पर पुनः डामरीकरण कर सिरोही जिले के डीएमएफडी फंड का नियोजित सदुपयोग लोक महत्व के माइनिंग सड़क सुधार कार्य में खर्च करने की मांग की।

खबरें और भी हैं...