पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोनाकाल:शिवगंज में ऑटो चालकों पर अब भी कोरोनाकाल का असर

शिवगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी इसका प्रभाव ऑटो चालकों पर अभी तक है, सवारियां नहीं मिलने से आर्थिक स्थिति हो रही खराब

शहर के पुराने व नए बस स्टैंड से सुमेरपुर तक चलने वाले ऑटोरिक्शा चालकों पर अभी भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लगाए लॉकडाउन का प्रभाव खत्म नहीं हुआ है। बाजार में पहले की तरह बाहरी लोग सामान खरीदने के लिए नहीं आ रहे है, ऐसे में ऑटो के लिए सवारियां भी कभी कभार ही मिलने से कई लोगों ने बैंक से लिए लोन की किश्त भी नहीं भर पा रहे है।

कई बार तो सवारियों के लिए घंटों तक इंतजार करना पड़ता है। ऑटो के मालिकों व चालकों ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को ज्ञापन भेजकर कोरोना महामारी की वजह से ऑटोरिक्शाओं के किराए में आई मंदी को लेकर आर्थिक सहयोग दिलाने की मांग की है।

ऑटोरिक्शा चालकों ने बताया कि शिवगंज-सुमेरपुर के बीच लोगों की यातायात सुविधा के लिए रोजाना करीब 100-125 ऑटोरिक्शा संचालित हो रहे है। लेकिन मार्च महीने में कोरोना महामारी की वजह से लगाए लॉकडाउन में करीब तीन महीने तक सभी ऑटोरिक्शा भी बंद रहने एवं अनलॉक में भी बाहरी लोगों का आवागमन नहीं होने से दिनभर में मात्र 150-200 रुपए ही किराए के आते है। इसी रुपए से घर खर्च चलाने के साथ डीजल भी खरीदना होता है। ऐसे में कई ऑटो मालिक तो इस समय बैंक लोन की महीनेवार किश्त भी नहीं भर पा रहे है।

चार महीने से हो रहे परेशान

  • कोरोना वायरस की गाइडलाइन की पालना कर सभी चालक इस समय अपने-अपने ऑटो में सवारियों की सुरक्षा के लिए सेनेटाइज भी रखते है। सेनेटाइजर से हाथ धुलवाने के बाद उन्हें ऑटो में बिठाते है और मुंह पर मास्क नहीं होने पर तो उन्हें ऑटो में भी नहीं बिठाते है। लेकिन करीब 4 महीनों से धंधा ठप जैसा हो गया है। - मांगीलाल चांवरिया, ऑटो चालक

एक महीने पहले ही बाहर निकाला है ऑटो

  • शिवगंज-सुमेरपुर में करीब 800 ऑटोरिक्शा है, जो दोनों शहरों समेत आस-पास के कई गांवों में चलते है। पिछले करीब एक महीने से ही ऑटो बाहर निकाला है, इसके पहले तो घर पर ही ऑटो पड़ा था। - कानाराम देवासी, ऑटो चालक

मुश्किल से मिल रहा 200 रुपए किराया

  • ऑटो की किराया राशि प्रतिदिन करीब 500-600 रुपए मिले तो घर का खर्चा व बैंक ऋण की किश्त भर सकते है। लेकिन वर्तमान तो 150-200 रुपए ही बड़ी मुश्किल से किराए के मिलते है। उन्होंने बताया कि बैंक ऋण की किश्त हर महीने 7 से 8 हजार रुपए आती है, जो कई ऑटो चालक 3-4 महीने से नहीं भर पा रहे है। - पुखराज, ऑटो चालक

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें