परेशानियों का सामना:शिवगंज-सुमेरपुर की दूरी कम करने वाली छीपावास रपट 4 साल से अधूरी

शिवगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

व्यवसायिक शहर शिवगंज-सुमेरपुर के बीच की दूरी कम करने वाली जवाई नदी की छीपावास रपट पिछले करीब 4 साल से अधूरी पड़ी है। इस रपट से सुमेरपुर की ओर जाने एवं वापस लौटने में सिर्फ 280 मीटर चौड़ी जवाई नदी की दूरी तय करनी होती है, इसके लिए बाइक सवार को मात्र 1 मिनट एवं पैदल चलने वाले व्यक्ति को 4 मिनट का समय ही लगता है।

जबकि शहर के बाजार से जवाई नदी पुल होकर सुमेरपुर जाने की दूरी 1 किमी से अधिक है, ऐसे में अधिक बाइक सवार व पैदल जाने वाले लोग छीपावास रपट का उपयोग ही कर रहे है, लेकिन रपट का निर्माण कार्य आज भी अधूरी होना से आवागमन में राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड रहा है।

वर्ष 2017 के अगस्त महीने में अतिवृष्टि होने पर जवाई नदी के अंदर पानी का बहाव तेज होने से छीपावास की रपट उखड़ कर टूट गई थी। नगर पालिका के तत्कालीन बोर्ड ने पहले तो तीन महीने बाद नवंबर में रपट की मरम्मत करवाई, इसके बाद वर्ष 2018 में करीब 180 मीटर रपट का निर्माण करवाया गया है, जिसकी चौड़ाई साढ़े सात मीटर है और उस पर करीब 48 लाख की लागत आई है। लेकिन नदी की चौड़ाई 280 मीटर है, उसमें रपट का निर्माण केवल 180 मीटर ही होने से आज भी सुमेरपुर की ओर करीब 100 मीटर रपट अधूरी पड़ी है।

खबरें और भी हैं...