परेशानी:औद्योगिक रीको; सड़क पर सिर्फ गड्ढे, नालों की भी सफाई नहीं, विकास शुल्क देकर भी उद्यमी परेशान

शिवगंज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रीको औद्योगिक क्षेत्र में सफाई के अभाव में कचरे से अटे पडे नाले। - Dainik Bhaskar
रीको औद्योगिक क्षेत्र में सफाई के अभाव में कचरे से अटे पडे नाले।
  • सड़क किनारे स्थित नालों के पास उगी कंटीली झाड़ियों की सफाई नहीं होने से इकाइयों मेंं आ रहे हैं जहरीले जीव-जंतु

केसरपुरा-शिवगंज रीको औद्योगिक क्षेत्र में विभागीय अधिकारियों की बेपरवाही के चलते न तो पानी निकासी के नालों की सफाई हो रही है और न ही सड़क पर हुए गड्ढ़ों की मरम्मत हो रही है। इतना ही नहीं जगह-जगह उगी कंटीली झाडियों की कटाई करवाई जा रही है। सफाई के अभाव में कई जगहों पर नालों में कचरा भरा रहने से पानी अवरूद्ध पड़ा है। सफाई व सड़क सुविधा समेत अन्य कार्यों के लिए रीको की ओर से विकास शुल्क वसूला जा रहा है, इसके बाद भी उद्यमियों को यातायात व्यवस्था के साथ अन्य समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।

रीको में बारिश के समय पानी बहने से उसके साथ आए कचरा व मिट्टी भी नालों के अंदर भर गई है, जिससे कई जगहों पर नाले अवरूद्ध हो गए है तो कई जगह क्षतिग्रस्त भी हुए है। उद्यमियों ने बताया कि औद्योगिक रीको में विकास कार्यों के लिए रीको विभाग की ओर से हर वर्ष इकाई मालिकों से सेवा शुल्क वसूल किया जाता है। इसके बाद भी सड़कों पर गड्ढे एवं उसके किनारे पर उगी हुई झाडिय़ों व कई जगहों पर गंदा पानी नालों में अवरूद्ध पड़ा होने से दुर्गन्ध फैली हुई है। सफाई नहीं होने से कई बार जहरीले जीव-जंतु सीधे ही रात के समय इकाइयों में घुस जाते हैं, जिससे हमेशा हादसे का डर लगा रहता है।

औद्योगिक क्षेत्र में केसरपुरा सड़क के नुक्कड़ से राजमार्ग तक लिंक सड़क बनी हुई, उसके हालात तो ओर भी अधिक बिगड़े हुए हैं। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं, जिससे आने जाने वाले उद्यमियों व श्रमिकों को काफी दिक्कतें हो रही हैं। सड़कों, पानी निकासी के नालों, पेयजल, सफाई आदि व्यवस्थाओं के लिए रीको की ओर प्रतिवर्ष सभी उद्यमियों से साढ़े छह प्रतिशत सेवा शुल्क वसूला जा रहा है, लेकिन सड़कों पर हुए गड्ढ़ोंं व अवरूद्ध पड़े नालों एवं सड़कों के किनारों पर उगी झाडियों को देखकर लगता है कि सेवा शुल्क के बदले में कोई सेवाएं ही नहीं दी जा रही है। सड़कों के किनारे उगी झाडियों की जगह तो सफाई के अभाव में कचरे के ढेर पड़े हैं।

नहीं हो रही सफाई, सड़कें क्षतिग्रस्त
नवरात्रि महोत्सव चल रहा है और दीपावली पर्व भी नजदीक है। लेकिन रीको विभाग की ओर से न तो उगी हुई झाडि़यों की कटाई करवाई जा रही है और न ही क्षतिग्रस्त हुई सड़कों की मरम्मत करवाई जा रही है, जबकि विभाग की ओर से विकास के नाम पर साढ़े छह प्रतिशत शुल्क हर वर्ष लिया जाता है। अगर जल्द ही सड़क पर हुए गड्ढों की मरम्मत नहीं करवाई एवं झाडियों व नालों की सफाई नहीं की तो अब उद्यमी भी विकास शुल्क देने वाले नहीं हैं।
-गोविंद सुथार, महामंत्री, उद्योग संघ केसरपुरा, शिवगंज

कई महीनों तक नहीं होती सफाई
रीको में कई महीनों से नालों की सफाई नहीं हो रही है। नालों के अंदर कचरा व गंदा पानी भरा पड़ा है। सड़कों पर भी गड्ढे होने के साथ इकाइयों के बाहर सफाई भी नहीं हो रही है। सड़कों की मरम्मत करवाने, समय पर सफाई करवाने, सड़कों व नालों के पास उगी झाडियों को कटवाने के लिए कई बार संबंधित अधिकारियों को कहा गया, लेकिन कोई ध्यान ही नहीं दिया जा रहा है।
-पूरण सिंह सोलंकी, उद्यमी, शिवगंज

​​​​​​​रीको में पानी निकासी के अधिकांश नाले कचरे से भरे पड़े हैं। उसमें पानी भी अवरूद्ध पड़ा होने से दुर्गन्ध फैली रहती है। ऐसे मच्छरों का प्रकोप होने से मौसमी बीमारियां फैलने की आशंका है। सड़कों व नालों के किनारे उगी हुई झाडियों के अंदर से कई बार जहरीले जीव-जंतु बाहर निकल आते हैं, जिससे हमेशा डर लगा रहता है।
-रमेश कुमार रावल, उद्यमी, शिवगंज

खबरें और भी हैं...