पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एसडीएम ने ली निजी डॉक्टर्स की बैठक, कहा:अस्पतालों में प्रवेशद्वार पर ही ऑक्सी मीटर से करें मरीजों के पल्स जांच

शिवगंजएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीसीएमओ कार्यालय में निजी अस्पतालों के डॉक्टरों व संचालकों की हुई बैठक में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने पर हुई चर्चा
Advertisement
Advertisement

मुख्य ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी कार्यालय शिवगंज में एसडीएम भागीरथराम चौधरी की अध्यक्षता एवं बीसीएमओ डॉ. कौशल औहरी की मौजूदगी में निजी अस्पतालों के डॉक्टरों एवं संचालकों की बैठक आयोजित हुई, जिसमें अस्पताल में उपचार के लिए आने वाले सभी मरीजों की ऑक्सी मीटर से प्रवेशद्वार पर ही जांच करने, कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने पर संबंधित मरीज को अस्पताल के बाहर से ही कोरोना जांच के लिए सरकारी अस्पताल में भेजने एवं इस बारे में तुरंत जानकारी बीसीएमओ को देने के निर्देश दिए।

एसडीएम चौधरी ने कहा कि निजी अस्पतालों में कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों के मरीजों को उपचार में पूरी तरह सुविधा हो, इसके लिए अस्पताल के प्रवेशद्वार पर ही चिकित्सा कर्मचारी से मरीज की ऑक्सी मीटर से जांच करवाएं, जिसमें अगर किसी मरीज में कोरोना वायरस के लक्षण मिलते है तो उन्हें अस्पताल के बाहर से ही कोरोना जांच के लिए राजकीय सामुदायिक अस्पताल में भेजा जाए, जहां पर वह सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच अपनी कोरोना जांच के लिए सैंपल दे सकता है। बैठक में निजी डॉक्टरों ने भी अपने सुझाव रखे एवं चिकित्सा व्यवस्था में पूरी तरह से सावधानी रखने का भरोसा दिया।

मरीजों के उपचार में हो सुविधा : एसडीएम ने कहा कि कोरोना से घबराए नहीं बल्कि अस्पताल में कोरोना के अलावा दमा, सर्दी-जुकाम बुखार, शुगर समेत अन्य बीमारियों के जो मरीज आते है, उनका उपचार सुव्यवस्थित रूप से हो, इसके लिए कोरोना से सिर्फ सावधानी रखने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि ऑक्सी मीटर से मरीज की पल्स जांचने पर उसमें कोरोना के लक्षण कोई दिखे तो डॉक्टर को ऐसे मरीज की जांच के लिए पुरी तरह से सावधानी रखने के साथ पीपी कीट अवश्य पहनना होगा। बैठक में बीसीएमओ डॉ. कौशल औहरी ने भी चिकित्सा व्यवस्था संबंधित आवश्यक जानकारी दी। बैठक में डॉ. नरेंद्रसिंह राजपुरोहित, डॉ. अरविंद जैन, डॉ. सोहनलाल कुमावत, डॉ. युधिस्टर राठी, डॉ. सुनिल मेवाड़ा व डॉ. कल्याणी सोनी मौजूद थे।
अस्पताल के प्रवेश द्वार पर ही जांच करें, पूरी सावधानी बरतें
एसडीएम ने कहा कि डॉक्टर भी कोरोना लक्षण वाले मरीज को प्रवेशद्वार पर ही आकर देखेंगे, ताकि कोरोना जांच में अगर वह मरीज पॉजिटिव आता है तो डॉक्टर व नर्सिंग कर्मचारी उनके संपर्क में नहीं रहने से अस्पताल को बंद करने की जरूरत नहीं होगी।

उन्होंने निजी अस्पतालों के संचालकों एवं डॉक्टर्स से आग्रह किया कि वे अस्पताल में आने वाले प्रत्येक मरीज को सेनेटाइज करें एवं उनकी जांच के दौरान चिकित्सक व कर्मचारी अपने हाथों में ग्लब्स, मुंह पर मास्क व सिर पर केप आवश्यक रूप से पहने। साथ ही उन्होंने सभी डॉक्टर्स को अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों को भी मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज रिश्तेदारों या पड़ोसियों के साथ किसी गंभीर विषय पर चर्चा होगी। आपके द्वारा रखा गया मजबूत पक्ष आपके मान-सम्मान में वृद्धि करेगा। कहीं फंसा हुआ पैसा भी आज मिलने की संभावना है। इसलिए उसे वसूल...

और पढ़ें

Advertisement