पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Pali
  • Sirohi
  • For The Second Time In The Period Of Karenakal, The Learned People Stayed In Their Homes And Offered Prayers Of Eid ul Juha, Prayed For Prayers

पर्व विशेष:काेराेनाकाल में दूसरी बार अकीदतमंदों ने घरों में रहकर अदा की ईदुल जुहा की नमाज, मांगी दुआ

सिरोही2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ईद पर बच्चों ने भी घर पर नमाज अदा की। - Dainik Bhaskar
ईद पर बच्चों ने भी घर पर नमाज अदा की।
  • मुस्लिम समाज ने अकीदत से मनाया ईदुल जुहा पर्व, कोरोना संक्रमण को लेकर इस बार भी घरों में ही रहे समाज के लोग
  • अकीदतमंदों ने सोशल मीडिया और मोबाइल के जरिए बधाइयां देकर ईद मुबारक की रस्म अदा की

मुस्लिम समाज की ओर से जिलेभर में बुधवार को कुर्बानी का पर्व ईदुल जुहा (बकरीद) अकीदत से मनाया गया। ईदगाह में ईद की नमाज कोरोना संक्रमण से फैली महामारी के कारण इस बार भी पहले की तरह सामूहिक रूप से नहीं हो सकी।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों ने घरों में नमाज अदा कर ईद मनाई। साथ ही सुबह नमाज के बाद कुर्बानी की रस्म अदा की गई। इस मौके अकीदतमंदों ने कोरोना संक्रमण से निजात की दुआएं भी की। कोरोना काल से पहले ईद की नमाज में हजारों लोग ईदगाह पहुंचते थे तथा वहां पर एक दूसरे को मुबारकबाद दी जाती थी।

बच्चे-बुजुर्ग तक काफी संख्या में वहां मौजूद होकर ईद की खुशियों के साथ इबादत करते थे और चारों तरफ मेले जैसा माहौल नजर आता था। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण यह दूसरी बार है कि घराें में ही नमाज अदा की गई।

अकीदतमंद सोशल मीडिया एवं मोबाइल के जरिए एक दूसरे को बधाइयां देकर ईद मुबारक की रस्म अदा करते नजर आए। पहले की तरह दावतों का दौर भी नजर नहीं आया। साथ ही एक दूसरे के घर जाकर ईद की मुबारकबाद देते लोग भी कम ही नजर आए।

शिवगंज: मुस्लिम समुदाय ने मनाया ईद का पर्व

शिवगंज मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बुधवार को ईद का पर्व मनाया। नमाज पढ़कर एक-दूसरे को मुबारकबाद दी। जामा मस्जिद, बड़ी व छोटी मस्जिद में सुबह नमाज अदा की। कोरोना की वजह से ईदगाह में कम लोग ही आए।

ईद की नमाज पढ़ने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक दूसरे के घर जाकर मुबारकबाद दी। वहीं मुस्लिम भाइयों ने कोरोना की गाइडलाइन की पालना करते हुए अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा की एवं खुदा से खुशहाली की कामना की।

माेबाइल पर एक-दूसरे को दी ईद की मुबारकबाद

मंडार कोरोना संक्रमण को लेकर दूसरी बार ईद पर अकीदतमंदों ने घरों में रहकर नमाज अदा की। मस्जिद ए इरम के मौलाना कमालुद्दीन अकबरी ने बताया कि जब पूरे मुल्क में यह रोग फैल रहा है, तो हमें भी सावधानी बरतने के साथ सरकार की गाइडलाइन की पालना करनी चाहिए। ईद पर सभी ने अपने घरों में ईद की नमाज अदा की तथा मोबाइल के माध्यम से एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी।

वहीं सामूहिक आयोजन नहीं होने के कारण मस्जिद के मौलाना कमालुद्दीन अकबरी, मौलाना सोकत अली, सूफी जी को कमेटी की ओर से मास्टर अशरफ असगरी, मुन्ना पठान, हाजी रफीक कुरेशी, हाजी रमजानशेख, गुलाम दस्तगीर, ताज मोहम्म्द, अयूब भाटी, सलीम राजड, शब्बीर, फिरोज भाटी समेत समाज के गुलाब नबी, हाजी गनी खां मेहर, हाजी कादर कुरेशी, शमशेर खां सिंधी, रसूल मेहर, अनवर शेख, मुश्ताक शेख, अशरफ भाटी, बसीर राजड, हाजी मोहम्मद खां, परवेज मेहर, सफी खां भाटी, सुल्तान मेवाती, हाजी मिरबक्स कुरैशी, हमीद कुरैशी समेत समाज के लोगों ने मस्जिद पहुंचकर ईद की मुबारकबाद दी।

घरों में रहकर खुदा की बारगाह में किया सजदा

आबूरोड शहर और आसपास के ग्रामीण इलाकों में बुधवार को ईद का पर्व मनाया तथा कोरोना की तीसरी लहर के बचाव के लिए अपने घरों में ही नमाज अदा की। इस मौके मौलाना मेहराज अहमद अशरफी, मौलाना ईमामुल हसन, मौलाना हन्नान नूरी ने अल्लाह की बारगाह में देश में अमन चैन की दुआएं मांगी।

साथ ही इस महामारी को दूर करने के लिए दुआएं की। ईद पर्व के दाैरान मुस्लिम समाज के लोगों की ओर से सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का पूरा पालन किया। ईद के अवसर पर मुस्लिम समाज के लोगों की ओर से कब्रिस्तान जाकर अपने पूर्वजों की कब्र पर फूल चढ़ाए।

माउंट आबू में अच्छी बारिश की मांगी दुआ

माउंट आबू शहर में बुधवार को मुस्लिम समाज की ओर से ईद का पर्व अकीदत से मनाया गया। साथ ही समाज के लोगों ने कोरोना महामारी को लेकर अपने घरों में ही नमाज अदा की। सभी ने सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे को ईद की बधाई दी तथा देश में अमन चैन व खुशहाली के साथ अच्छी बारिश की दुआएं मांगी गई।

इस मौके पूर्व सदर हाजी मोहम्मद साबिर कुरैशी, अब्दुल रशीद बशीर, रईस अहमद, अब्दुल, राहुफ, दिलशाद, मुख्तियार खान, मुर्तुजा हुसैन, सलमान खान, अमीन शेख, चांद मोहम्मद, रफीक खोखर ने सभी को ईद की मुबारकबाद दी।

​​​​​​​



खबरें और भी हैं...