पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मानसून का रिपोर्ट कार्ड:सितंबर के 4 दिन में ही औसत की 12.10% बरसात, 2 माह में 21% ही थी, अब 17 दिन में 53% और चाहिए

सिराेही11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पहाडियों में अच्छी बारिश होने से रविवार को पहली बार सुकड़ी नदी में पानी बहा। नदी को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। - Dainik Bhaskar
पहाडियों में अच्छी बारिश होने से रविवार को पहली बार सुकड़ी नदी में पानी बहा। नदी को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई।
  • ढाई महीने में औसत की सिर्फ 29 प्रतिशत, सितंबर के 12 दिनों में ही हो गई 18 प्रतिशत

जिले में इस बार सुस्त मानसून सितंबर में फिर सक्रिय हुआ है और सिर्फ 12 दिनों में ही औसत की 18 प्रतिशत बारिश कवर भी कर ली है। मानसून सीजन के जून, जुलाई और अगस्त तक जिले में 29 प्रतिशत बारिश हुई। अब तक जिले में औसत की 47 प्रतिशत यानी 393.2 एमएम बारिश का कोटा पूरा हो चुका है।

इसमें भी जून में 8 प्रतिशत, जुलाई में 16 प्रतिशत और अगस्त में 5 प्रतिशत बारिश हुई। अब जिले में पिछले 5 दिनों से मानसून सक्रिय है और सिर्फ 4 दिनों में ही यहां 106.5 एमएम बारिश हुई है। रविवार को भी जिलेभर में कहीं तेज और कहीं रिमझिम बारिश का दौर जारी रहा।

मौसम विभाग के अनुसार सिरोही जिले में 30 सितंबर तक मानसून का समय मनाया गया है। ऐसे में अब मानसून के सिर्फ 17 दिन ही बचे हैं और इन 17 दिनों में औसत बारिश का आंकड़ा छूने के लिए 486.4 एमएम शनी 53 प्रतिशत बारिश और चाहिए।

जिले में अब तक सबसे ज्यादा पिंडवाड़ा और शिवगंज क्षेत्र में बारिश हुई है और यहां बारिश ने औसत का 55 प्रतिशत आंकड़ा छू लिया है। वहीं सिरोही और आबूरोड क्षेत्र में सबसे कम बारिश हुई है। यहां अब तक औसत की महज 37-37 प्रतिशत ही बारिश हुई है। माउंट आबू में 42 प्रतिशत और रेवदर में 49 प्रतिशत बारिश हो चुकी है।

खुशी : दो ब्लॉक में 50% से ज्यादा- पिंडवाड़ा और शिवगंज ब्लॉक में औसत की 55% बारिश हो चुकी। जिले के 16 बांधों में पानी की आवक शुरू हो चुकी

चिंता : दो ब्लॉक में औसत की 37% - जिले के सिरोही और आबूरोड ब्लॉक में अभी तक मात्र 37 प्रतिशत ही बारिश हुई है। मानसून के 17 दिन ही बचे हैं।

मानसून के 85 दिन, अगस्त में सिर्फ 38 तो सितंबर में 149 मिमी से ज्यादा बरसा

जून : 11 दिन में 63.2 एमएम

इस बार मानसून 17 दिन पहले यानी 19 जून को ही जिले में प्रवेश हो गया था। जून के 11 दिनों में 30 जून तक जिले में 63.2 एमएम यानि औसत की 8 प्रतिशत बारिश

जुलाई : 31 दिन में 142 एमएम

जुलाई महीने में भी मानसून सुस्त ही रहा। जुलाई के 31 दिनों में 142 एमएम बारिश हुई। यानी औसत की 16 प्रतिशत। जून और जुलाई महीने को मिला कर जिले में 205.2 एमएम बारिश हुई, जो औसत की 24 प्रतिशत थी।

अगस्त : 31 दिन में 38 एमएम

इस बार अगस्त महीने में मानसून बिल्कुल सुस्त रहा और इस पूरे महीने 31 दिनों में महज 38 एमएम बारिश ही हुई। यानी औसत बारिश की मात्र 5 प्रतिशत। जून, जुलाई और अगस्त तीनों महीनों को मिलाकर जिले में 243.3 एमएम बारिश हुई, जो औसत की 29 प्रतिशत थी।

सितंबर : 12 दिन में 149.9 एमएम

इस बार सितंबर महीने में मानसून सक्रिय हुआ है। महज 12 दिनों में ही यहां 149.9 एमएम बारिश हो चुकी है, यानी औसत की 18 प्रतिशत। इसमें भी 9 सितंबर से 12 सितंबर के बीच सिर्फ 4 दिनों में 106.5 एमएम बारिश हुई है। पूरे मानसून की अब तक जिले में 393.2 एमएम बारिश हुई है, जो औसत की 47 प्रतिशत है।

खबरें और भी हैं...