पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्दलीय चुनाव:कांग्रेस सरकार को समर्थन देने वाले विधायक लाेढ़ा ने निर्दलीय वाला बैनर लगा 3 घंटे अकेले धरना दिया

सिरोही19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विधायक बोले- यह धरना पीएम मोदी के खिलाफ, मेरी मांग- इस्तीफा दे कुर्सी दूसरे को सौंपो

कांग्रेस से टिकट कटने के बाद निर्दलीय चुनाव जीतकर पार्टी को समर्थन देने वाले क्षेत्रीय विधायक संयम लोढ़ा रविवार को एक बार फिर निर्दलीय की भूमिका में नजर आए। विधायक लोढ़ा ने शहर के सरजावाव गेट पर टेंट लगाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अकेले धरने पर बैठकर सबको चौंका दिया। रविवार सवेरे 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक सांकेतिक धरने पर बैठे विधायक लोढ़ा ने बताया कि मोदी वन और टू को मिलाकर कुल 7 साल हो गए हैं।

इन सात सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गलत नीतियों के कारण देश ने जो भी कुछ आजादी को बाद हासिल किया था वो सबकुछ गंवा दिया है। लोढ़ा ने बताया कि दूसरे कार्यकाल के दूसरे साल में वो किया जो आजाद भारत के इतिहास में नहीं हुआ। कोरोना महामारी की दूसरी लहर को सबसे खराब ढंग से निपटने वाले विश्व नेताओं में प्रधानमंत्री मोदी शुमार हो गए हैं।

बेरोजगारी व आर्थिक मंदी के लिए भी प्रधानमंत्री पर साधा निशाना : लोढ़ा ने बताया कि प्रधानमंत्री की नोटबंदी, जीएसटी और लॉकडाउन के कारण जहां देश के लोगों की आय कम हुई है लोग बेरोजगार हुए। मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर सेंट्रल एक्साइज बढ़ाकर, कोरोना जैसी बीमारी में लाइफ सेविंग ड्रग्स पर टैक्स लगाकर और महंगाई की मार करके भारत के लोगों का स्वाभिमान के साथ अपनी न्यूनतम जरूरत को पूरा करने से भी महरूम कर दिया है। इसलिए उन्हें अपने पद से इस्तीफा देकर उनकी पार्टी के सक्षम नेताओं को देश की कमान सौंपनी चाहिए।

कोरोना से निपटने में चूक के लिए पीएम को ठहराया जिम्मेदार
विधायक लोढ़ा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने देश से वायदा किया था कि भारत को वेक्सीनेशन प्रोग्राम तेजी से आगे बढ़ रहा है और वो पूरे देश को वैक्सीनेशन करवाने के लिए कटिबद्ध हैं। लेकिन, इसके विपरीत दूसरी लहर आने तक उन्होंने वैक्सीन उत्पादन और ऑर्डर की कवायद नहीं की। जिससे जहां अमेरिका ने अपने 13 करोड़ से ज्यादा लोगों को वेक्सीनेशन कर लिया है तो विश्व में सबसे ज्यादा आबादी होने के बावजूद चीन ने अपने 58 करोड़ से ज्यादा नागरिकों को सिंगल डोज वैक्सीन दे दी है।

वहीं भारत के नागरिक वेक्सीनेशन के लिए जूझ रहे हैं। केन्द्र की ओर से निशुल्क वेक्सीनेशन से मुकरने पर सभी राज्य अपने स्तर पर अपने खर्च पर अपने नागरिकों को वेक्सीनेशन के लिए तैयार भी हो गए, लेकिन मोदी सरकार उन्हें वैक्सीन उपलब्ध नहीं करवा पा रही है। इतना ही नहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर राज्यों को वैक्सीन खरीदने पर भी असहयोगात्मक रुख अपना रही है।

इधर, भाजपा ने निर्दलीय विधायक लोढ़ा के धरने व सांकेतिक उपवास को बताया नाटक सिरोही | भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित ने निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा के धरने व सांकेतिक उपवास पर कहा कि केंद्र कि मोदी सरकार की बजाए प्रदेश की गहलोत सरकार से इस्तीफा मांगते तो अच्छा होता। जो इस कोरोना महामारी में पूरी तरह विफल रही है। निर्दलीय विधायक ने जो वादे सिरोही की जनता से किए वो भी पूरे नही किए जनता को कहने व वाहवाही लूटने के लिए खाली कागज़ों में है।

इस कोरोना महामारी में सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए सांकेतिक उपवास का सिर्फ नाटक किया, लेकिन हकीकत में जनता के दुख दर्द से कोसो दूर है। पुरोहित ने बताया कि मोदी सरकार कोरोना संक्रमण रोकने के लिए अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन लगे इसके लिए प्रयास कर रही है। वहीं दूसरी ओर राजस्थान की गहलोत सरकार की लापरवाही से वैक्सीन की करीब 11.5लाख डोज खराब हुई। इस पर भी निर्दलीय विधायक लोढ़ा को बोलना चाहिए। जिलाध्यक्ष पुरोहित ने बताया कि कांग्रेस ने किसानों की कर्ज माफी, बेरोजगारी भत्ता जैसे वादे सरकार बनने के ढाई वर्ष बाद भी पूरे नही हुए। इसका जवाब भी निर्दलीय विधायक लोढ़ा को धरना लगा कर पूछना चाहिए। गहलोत सरकार के किसी विधायक ने मोदी सरकार के 7 साल के कार्यकाल को लेकर धरना व सांकेतिक उपवास नही रखा, लेकिन निर्दलीय विधायक लोढ़ा ने नाटक कर गहलोत सरकार की नाकामियों को छुपाकर आमजन एवं मीडिया का ध्यान भटकाने के लिए नाटक किया है। पुरोहित ने जिले की बदहाल कानून व्यवस्था की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि गुजरात बॉर्डर पर तस्करी बढ़ रही है। रविवार को गुजरात बॉर्डर पर दूसरी जिलों से आई टीम ने हरियाणा निर्मित पांच करोड़ की शराब पकड़ी। जिले में चोरियां बढ़ रही है क्या यही गहलोत सरकार का सुशासन है।

खबरें और भी हैं...