पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चौथे दिन भी बरसा मानसून:सबसे ज्यादा रेवदर में डेढ़ इंच बारिश, रुखाडा और मंडार में गिरी बिजली, माउंट की नक्की का भी बढ़ा जलस्तर

सिरोही14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मानसून की अच्छी बारिश ने जिलेभर को भिगोया, माउंट आबू में बह रहे झरनों का लुत्फ उठा रहे सैलानी, भटाना के पास सौकावाला नदी बहने से कटा गांवों का संपर्क

जिलेभर में रविवार को भी मानसून सक्रिय रहा और जगह-जगह अच्छी बारिश हुई। साथ ही जिले के पोसालिया के पास रुखाडा गांव और मंडार में आकाशीय बिजली गिरने की भी घटनाएं हुई, जिसमें रुखाडा में बिजली गिरने से भैंस मर गई और मंडार में मकान की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई और कई बिजली के उपकरण भी जल गए।

वहीं भटाना गांव के सौकावाला नदी उफान पर बही, जिससे लोगों का गांवों से संपर्क कट गया। पोसालिया के पास बहने वाली सुकडी नदी में भी इस सीजन में पहली बार पानी की आवक हुई। नदी में आए पानी को देखने के लोगों की भीड लग गई। इधर, हिल स्टेशन माउंट आबू में लगातार हो रही बारिश से वादियों में बहने वाले झरने भी वेग से बहे। साथ ही यहां के जल स्त्रात नक्की झील, लोअर कोदरा व अपर कोदरा बांध में जलस्तर बढने लगा है।

प्रदेश में इस बार अब तक होने वाली बारिश में सबसे कम सिरोही जिले में ही हुई है। अब तक होने वाली बारिश से 51 प्रतिशत कम हुई है। जबकि प्रदेश के बारां जिले में 52.4 प्रतिशत ज्यादा बारिश हो चुकी है। प्रदेश के तीन संभागों में ज्यादा और तीन में कम बारिश हुई है। इसमें भी 15 जिलों में औसत से कम और 18 जिलों में औसत से ज्यादा बारिश हुई है। इस बार पूरे प्रदेश में अब तक 2.7 प्रतिशत कम बारिश हुई है।

माउंट आबू : वेग से बह रहे झरने, नक्की का बढ़ा जलस्तर

माउंट आबू हिल स्टेशन माउंट आबू में शनिवार देर रात हुई तेज बारिश से नक्की झील समेत लोअर व अपर कोदरा डेम का जलस्तर बढ़ रहा है। रविवार को भी सवेरे से हो रही अच्छी बारिश से पानी की आवक शुरू हुई है। तेज बारिश से पहाडों में बहने वाले झरनों समेत 20 नंबर पिलर का झरना सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है।

जलदाय विभाग के एईएन राजेन्द्र गुर्जर ने बताया कि रविवार सुबह 8 बजे तक 35 एमएम बारिश हुई। उन्होंने बताया कि लोअर कोदरा बांध में 59 फीट भराव क्षमता के मुकाबले 42. 6 फी पानी आ चुका है। अपर कोदरा डैम में 33 फीट भराव क्षमता के मुकाबले 18 फीट पानी आ चुका है। नक्की लेक में 12.25 मीटर भराव क्षमता के मुकाबले अब तक 11.23 मीटर पानी की आवक हुई है।

सरूपगंज: वास्तानजी में बहने लगे झरने

सरुपगंज | सरुपगंज समेत आसपास क्षेत्र में शनिवार रात से रुक रुक कर बारिश का दौर जारी है। बारिश के बाद वास्तानजी में झरने बहने शुरू होने से वहां पर लोगों की भीड़ शुरू हो गई। जानकारी के अनुसार क्षेत्र में पिछले तीन चार दिन से बारिश का दौर जारी है। वास्तानजी में बारिश के बाद झरने शुरू होने के बाद वहां पर लोगों का आवागमन शुरू हो गया। वहीं चारों ओर हरियाली व पहाड़ों पर चलते झरने लोगों का आकर्षण बना हुआ है।

पोसालिया: सुकडी नदी में आया पानी

पोसालिया | समीपवर्ती रूखाड़ा गांव में रविवार को बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से एक भैंस की मौत हो गई। उपसरपंच सरवन सिंह देवड़ा ने बताया कि गांव में देढा नाडी के पास देवा राम दलाराम मेघवाल की भैंस पर अचानक आकाशीय बिजली गिरने से उसकी माैत हो गई। अच्छी बारिश होने से सीजन में पहली बार सुकडी नदी में भी पानी की आवक हुई। नदी में आए पानी को देखने के लिए लोगों की भीड लग गई।

भटाना: वेग से बही सौकावाला नदी

भटाना | क्षेत्र में शनिवार रात हुई तेज बारिश से समीपवर्ती सौकावाला नदी उफान पर बही। इस दौरान करीब 3 घंटे तक गांवों का संपर्क भी कटा रहा। गुजरात बोर्डर होने के कारण सरकारी बसे भी यहीं होकर गुजरती है। नदी में पानी का बहाव ज्यादा होने पर बस चालक ने जान जोखिम में डालकर नदी पार की। साथ ही कई ग्रामीण भी वेग से बह रहे पानी के बीच नदी पार करते नजर आए।

शिवगंज: बारिश से सड़कों पर बहा पानी

शिवगंज | सिर्फ एक-दो बार बुंदाबादी ही हुई। लेकिन समीप के ग्राम बादला, रघुनाथपुरा, कानाकोलर, दूदनी गांवों में झमाझम बारिश होने से बरसाती नालों में पानी बहा। बारिश के पानी की आवक अधिक होने से रास्तों ने भी नालों का रूप ले लिया था। बारिश होने से इस क्षेत्र के बांध, तालाब, एनिकट व नाडियों में भी पानी की आवक हुई है। तेज बारिश होने से कांबेश्वर महादेव की सड़क पर भी पानी बहा। बारिश सुबह 6 बजे शुरु हुई जो करीब पौने घंटे तक जमकर बरसी। ​​​​​​​

मंडार: बिजली गिरने से दीवार क्षतिग्रस्त

मंडार | कस्बे समेत आसपास के गांवों मे शनिवार को झमाझम बारिश हुई। जल स्त्रोतों में पानी की आवक हुई। जुआदरा नदी में भी पानी की आवक हुई। वहीं शनिवार की रात को समीपवर्ती मगरीवाडा गांव में आकाशीय बिजली गिरने से ट्रांसफार्मर समेत बिजली उपकरण जल गए तथा एक मकान की दीवार भी क्षतिग्रस्त हो गया। मगरीवाडा उप सरपंच विक्रम सिंह देवडा ने बाताया बिजली गिरने से एक खेत पर बने मकान की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई। ​​​​​​​

आबूरोड: बरसात से ढहा झोंपडा

आबूरोड | समीपवर्ती डेरी की इंडी फली में रविवार काे आदिवासी का एक कच्चा आवास बरसात के पानी के रिसाव व तेज हवा से ढह गया। डेरी गांव की इंडीफली निवासी बाबू पुत्र नाना गरासिया अपने तीन बच्चों व पत्नी के साथ कच्चे आवास में निवास करता है। रविवार को बरसात के दौरान छप्पर से पानी टपकने के दौरान अनहोनी से बचने के लिए वह पास के अपने भाई के आवास में शरण ली थी। कुछ ही देर में बूंदाबांदी के साथ तेज हवा से झाैंपडा ढह कर धराशाई हो गया।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...