शहर की सफाई व्यवस्था पर बवाल:नोटिस पर सख्ती : आयुक्त ने ठेकेदारों को चेताया, शहर साफ नहीं दिखा तो ठेका कैंसल

सिरोही2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर में गंदगी पर कलेक्टर ने 3 दिन पहले नगर परिषद आयुक्त को थमाया नोटिस, इसी पर सफाई ठेकेदारों की लगी क्लास, इधर, पार्षदों ने सभापति कक्ष में दिया धरना

शहर में बिगड़ी सफाई व्यवस्था को लेकर कलेक्टर के नोटिस पर गुरुवार को आयुक्त महेंद्र सिंह चौधरी ने नगर परिषद सभा भवन में सफाई समिति के साथ वार्ड पार्षदों और संबंधित सफाई ठेकेदारों की बैठक ली तथा शहर की सफाई व्यवस्था को सुधारने के निर्देश दिए। इस दौरान सफाई ठेकेदारों ने दो माह के बकाया भुगतान के लिए कहा तो आयुक्त ने एक सप्ताह में शहर की सफाई व्यवस्था सुधारने का अल्टीमेटम दिया और कहा कि सफाई नहीं सुधरी तो ठेका ही कैंसल कर दिया जाएगा। बैठक में वार्डों के पार्षदों ने भी सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग की।

बैठक में सभापति महेंद्र मेवाड़ा ने बताया कि शहर में सफाई व्यवस्था चरमरा गई है और इसके चलते प्रशासन की ओर से परिषद अधिकारियों को नोटिस दिए जा रहे हैं। इससे परिषद की कार्यशैली पर सवाल खड़ा होता है, जो सही नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अभी त्याेहारों के दिन हैं, ऐसे में शहर को साफ नहीं रखा गया, तो सफाई ठेकेदारों पर कार्रवाई जाएगी।

वहीं, उप सभापति जितेंद्र सिंघी ने कहा कि मुख्य बाजार सरजावाव दरवाजे के बाहर नालियों से निकासी नहीं हाेने से मुख्य रास्ता ही इतना गंदा है, तो शहर के क्या हालात हाेंगे। बैठक में पार्षद मनोज पुरोहित, मणिदेवी, निर्मला जाटोलिया, अनिता राठौड़, तेजाराम वाघेला, कस्तूदेवी, सफाई निरीक्षक महावीर कुमार, संविदा सफाई निरीक्षक प्रवीण माली, हल्का जमादार हरीश वाघेला और ओटी देवी समेत सफाई ठेकेदार मौजूद थे।

सभापति के चैंबर में नीचे बैठे पार्षद, धरना दिया : शहर में बिगड़ी सफाई व्यवस्था को लेकर पार्षद अनिल सगरवंशी और अनिल चौहान ने सभापति महेंद्र मेवाड़ा के चैंबर में नीचे बैठकर धरना दिया। इस पर सभापति ने जल्द शहर की सफाई व्यवस्था सुधारने का आश्वासन दिया।

शहर में 3 डंपिंग स्टेशन, तीनों सुबह 10 बजे तक साफ करने के निर्देश

बैठक में आयुक्त ने कहा कि शहर के राजमाता धर्मशाला के पास, संजीवनी हॉस्पिटल के पास और भाटकड़ा सर्किल के पास स्थित डंपिंग स्टेशन हैं। उसे सुव्यवस्थित किया जाए, जिससे शहर में गंदगी नहीं फैले। शहरभर में सफाई का काम सुबह 10 बजे तक खत्म करने के निर्देश दिए।

3 भागों में बंटी है शहर की सफाई व्यवस्था 3 अलग-अलग फर्म को जोनवाइज दिया है ठेका 114 स्थायी सफाईकर्मी 135 सफाई कर्मचारी ठेके पर 2 सफाई निरीक्षक

बेसहारा पशु और कुत्तों की धरपकड़ की मांग
बैठक में पार्षदों की ओर से सड़कों पर घूमते बेसहारा पशुओं और शहर की गलियों में बढ़ी आवारा कुत्तों की धरपकड़ की मांग की। पार्षदों ने बताया कि गाय और सांड को पकड़कर गोशाला में रखा जाए, जिससे सड़कों पर हादसे नहीं हो और उनको भी पर्याप्त रूप से खाना मिल सकेगा। वहीं आवारा कुर्तों की नसबंदी की जाए। इस पर सभापति ने कुत्तों को पकड़ने और नसबंदी के लिए अलग से ठेका देने की बात कही। आयुक्त ने बेसहारा पशुओं को अर्बुदा गोशाला में भेजने के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...