पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मातर माताजी की पहाड़ियों में पेड़ पर लटका मिला शव:जिम बंद हुआ तो ट्रेनर ने आत्महत्या की स्टेट लेवल पर बाॅक्सिंग में जीते थे पदक

सिरोही12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक महेंद्र माली - Dainik Bhaskar
मृतक महेंद्र माली

बेंगलुरु में जिम ट्रेनर के तौर पर काम करने वाले शहर के एक युवक ने लाॅकडाउन में काम बंद हाेने के बाद तनाव में आकर आत्महत्या कर ली। सिराेही स्थित घर से दो दिन पहले निकले जिम ट्रेनर का शव बुधवार को मातर माताजी की पहाड़ियाें में पेड़ पर लगाए फंदे से झूलता मिला। युवक स्टेट लेवल का बाॅक्सर भी था और कई मेडल भी जीत चुका था। मृतक की मां किरण पंवार ने कोतवाली थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। थानाधिकारी अनिता रानी ने बताया कि बुधवार सुबह मातर माताजी मंदिर की ओर से कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि जंगल में पेड़ पर किसी युवक का शव लटक रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची। शिनाख्त करने पर पता चला कि दो दिन से लापता युवक महेंद्र माली पुत्र वीरमा राम माली का शव है। पुलिस ने परिवार को सूचित कर शव को मोर्चरी में रखवाया।

पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद मामले की पूरी जांच की जाएगी। मृतक मूलतः जोधपुर का रहने वाला है। युवक के पिता वीरम राम माली पिछले कई सालों से सिरोही में ठेकेदारी का काम कर रहे हैं और परिवार शहर के नयावास में रहता है।

परिजनों ने बताया जिम बंद होने से तनाव में था महेंद्र

गुमशुदगी को लेकर दी रिपोर्ट में परिजनों ने पुलिस को बताया कि पिछले चार-पांच महीनों से लॉकडाउन के चलते बेंगलुरु में जिम बंद हो गया था और तब से वो सिरोही में रह रहा था। जिम बंद होने की वजह से बेंगलुरु वापस नहीं जा पाया और लगातार तनाव में रहने लगा था। कई बार उसने जिम बंद होने की परेशानी की बात परिजनों को बताई थी।

उदयपुर सहित कई जगह टूर्नामेंट में खेल चुका

मृतक के भाई नरपत सिंह ने बताया कि जिम ट्रेनर के साथ-साथ महेंद्र बॉक्सर भी था। स्टेट लेवल पर कई खिताब जीत चुका था। महेंद्र ने उदयपुर समेत कुछ जिलों में हुए बॉक्सिंग टूर्नामेंट में हिस्सा भी लिया था। फिलहाल नेशनल की तैयारी में जुटा था।

खबरें और भी हैं...