पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रेरक पहल:साेजत में पति की स्मृति में पत्नी ने सेवा मंडल को भेंट किया मकान और मंदिर, 1 लाख रुपए भी दिए

सोजत9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में सेवा मंडल के कार्याेंं से प्रभावित हाेकर महिला केशीबाई ने लिया निर्णय

जिले में भामाशाहों की कमी नहीं है। काेराेनाकाल में भी दानदाता आगे आ रहे हैं। जिसका उदाहरण बुधवार काे देखने को मिला। एक महिला ने पति की स्मृति में लाखों रुपए की लागत से बनाए गए अपने घर व मंदिर के साथ 1 लाख रुपए सोजत की स्वयंसेवी संस्था सोजत सेवा मंडल काे भेंट कर दिया।

शहर की आईओसी कॉलोनी में रहने वाले सरकारी शिक्षक मोहनलाल चौहान ने अपने जीवन काल में आईओसी कॉलोनी में मकान और पूजा-अर्चना के लिए एक शिव मंदिर का निर्माण कराया था। वर्ष 2013 में उनके निधन होने के बाद उनकी पत्नी केसीबाई चौहान ने शहर की स्वयंसेवी संस्था सोजत सेवा मंडल के कार्यों से अभिभूत हुई। जिसके बाद उन्होंने तय किया कि वह अपने मकान व मंदिर को सेवा मंडल को भेंट कर देगी।

दानदाता परिवार की बेटियों का किया बहुमान

इस दौरान सोजत सेवा मंडल के अध्यक्ष गौतमचंद लोढ़ा,सचिव पुष्पराज मणाेत,विजयसिंह चौहान द्वारा दानदाता परिवार के दामाद ताराचंद सांखला, मुकेश कछवाह (दोहिता) पुत्री रेखा जामोदिया,ममतादेवी कछवाह, बाबूलाल पालरिया, कैलाश सांखला आदि का स्वागत किया गया। इस अवसर पर सेवा मंडल के सदस्य ताराचंद सैनी, जगदीशसिंह गहलोत, राजेंद्र चौहान,बुधाराम घांची,जगदीश पाराशर पारसमल प्रजापत,ताराराम मेवाड़ा,योगेश प्रजापत आदि उपस्थित रहे।

बेटियाें ने भी दी सहमति

मां के निर्णय पर बेटियाें ने भी अपनी सहमति जता दी और बुधवार को सेवा मंडल के पदाधिकारियों को दोनों संपत्तियों का स्वामित्व सौंप दिया। इसके अलावा 1 लाख रुपए रोकड़ भेंट किए। इस दौरान दानदाता परिवार ने मंदिर की पूजा-अर्चना बराबर करवाने की बात सेवा मंडल के पदाधिकारियों के सामने रखी,जिसे पदाधिकारियों ने स्वीकार कर लिया।

खबरें और भी हैं...