पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेस्क्यू:वेस्ट बनास बांध में 1500 फीट लंबा जाल बिछाया ताे छठे दिन मिला युवक का शव

सरूपगंज6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12 मछुआरों की टीम ने जाल से ढूंढा शव, चार घंटे की मशक्कत के बाद बाहर निकाला

जिले के सबसे बड़े वेस्ट बनास बांध में डूबे युवक के शव को छठे दिन मांडवाड़ा खालसा से बुलाई मछुआरों की टीम ने ढूंढ निकाला। तब जाकर पुलिस व प्रशासन की टीम ने राहत की सांस ली। वहीं, युवक के शव को देख परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। शव निकालने के लिए एसडीआरएफ जोधपुर व उदयपुर, सिविल डिफेंस सिरोही, माउंट की रेस्क्यू टीम व मछुआरों समेत 50 लोग जुटे रहे।

थाना प्रभारी छगनलाल डांगी ने बताया कि गत बुधवार को किकाराम अपने परिचित फूलाबाई खेड़ा में भैंस का बच्चा छोड़ने गया था। रात को वहीं रुका था तथा गुरुवार को उसके दो साथी रामाराम व शंकर के साथ बाइक पर बनास बांध पर आए थे। जहां नहाने के दौरान किकाराम बनास बांध में डूब गया था। सिविल डिफेंस व एसडीआरएफ तथा माउंट आबू की टीम ने लगातार पांच दिन तक युवक की तलाश की, मगर कोई सुराग हाथ नहीं लगा।

इस दौरान किकाराम का शव करीब 20 फीट नीचे तले में चला गया था। छठे दिन भी एसडीआरएफ की टीम ने ढूंढने का प्रयास किया मगर दोपहर तक सफलता नहीं मिली, जिस पर मांडवाड़ा खालसा के मुनिया बांध पर स्थित मछुआरों की टीम को जाल के साथ बुलाया।

मछुआरों की टीम ने बांध में करीब 12 सौ से 15 सौ फीट लंबा व करीब 50 फीट चौड़ा जाल डालकर धीरे धीरे खींचा। करीब चार घंटे मशक्कत के बाद शव मिल गया। पछले 6 दिन से एसडीआरएफ जोधपुर व उदयपुर के 20, सिविल डिफेंस के 7, माउंट के 7 और 12 मछुआरों की टीम इस रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी और शव निकाला।

तल में चला गया था शव, जाल से चार घंटे में निकाल पाए

युवक का शव बांध के 20 फीट गहरे तल में फंसा था। ऐसे में टीम को शव मिलने में मुश्किलें आ रही थी। 12 सदस्यों की मछुआरों की टीम बनास बांध पहुंची। जानकारी जुटाने के बाद जहां युवक डूबा था, वहां से कुछ आगे की ओर 12 सौ से 15 सौ फीट लंबे तथा करीब 50 फीट चौड़े मछली पकड़ने वाले जाल को बांध में डाला।

करीब 4 घंटे में जाल को धीरे-धीरे बाहर निकाला तो शाम साढ़े 6 बजे जाल में किकाराम का शव निकल अाया। इस दौरान एसडीएम हरिसिंह देवल, उप तहसीलदार चोखाराम, थानाप्रभारी छगनलाल डांगी, भाजपा कार्यकर्ता हीराराम चौधरी, लौटाना के पूर्व सरपंच रतनलाल गरासिया, पंचदेवल सरपंच विपेश कुमार गरासिया, सिंचाई विभाग उपभोक्ता संगम के अध्यक्ष समाराम चौधरी, रईस रंगरेज और सलीम रंगरेज आदि मौजूद थे।

हैडकांस्टेबल हनुमानसिंह की अहम भूमिका रही, 6 दिन से वहीं कैंप बना रह रहे थे
पिछले 6 दिन से चल रहे इस रेस्क्यू ऑपरेशन में अहम भूमिका सरूपगंज थाने के हैड कांस्टेबल हनुमान सिंह राणा की रही। वे पिछले 6 दिन से 24 घंटे बांध पर ही तैनात थे। रेस्क्यू कर रही टीम को कोई परेशानी न आए, जिसके लिए उन्होंने वहीं अपना कैंप बना लिया और रात में भी वहीं रुकते। टीम के खाने से लेकर संसाधनों का इंतजाम तक हनुमान सिंह राणा ने किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser