दीपेश्वर तालाब पर एसडीआरएफ- एनडीआरएफ ने किया संयुक्त अभ्यास:घर पर पड़ी सामग्रियों का उपयोग कर पानी में डूबे लोगों को बचाने के उपाय बताए

प्रतापगढ़ (राजस्थान)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दीपेश्वर तालाब पर बुधवार को एनडीआरएफ व एसडीआरएफ ने संयुक्त अभ्यास किया। अहमदाबाद से आई एनडीआरएफ की टीम ने बाढ़ के समय पानी में डूबे लोगों को बचाने का प्रशिक्षण मौजूद लोगों को दिया। अभ्यास को देखने शहर के सैकड़ों लोग दीपेश्वर तालाब पहुंचे। एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेंट राकेश सिंह ने बताया कि बाढ़ या प्राकृतिक आपदा में किस प्रकार से लोगों को बचाया जा सकता है। वह घर में पड़ी सामग्रियों का प्रयोग कर पानी में डूबे लोगों को किस प्रकार से निकालकर लाया जा सकता है। जानकारी लोगों सहित आपदा प्रबंधन के स्वयंसेवकों को दी गई। इंजन रबर बोर्ड से मॉक अभ्यास कर किया प्रदर्शन एसडीआरएफ के करीब 11 तथा एनडीआरएफ के 27 जवानों ने संयुक्त मॉक अभ्यास के दौरान तालाब, नदी-नालों के बीच बड़े लोगों को इंजन रबर बोर्ड द्वारा किस प्रकार से निकालकर जान बचाई जा सके। इसकी कार्मिकों ने अभ्यास कर लोगों को जानकारी दी। इस मौके पर एसडीआरएफ इंचार्ज भागचंद, एडीएम गोपाललाल स्वर्णकार, एसडीएम अभिमन्यू सिंह कुंतल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भागचंद मीणा, कोतवाली थानाधिकारी रवींद्र सिंह, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. ओमप्रकाश दायमा सहित जिले के प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

अापदा प्रबंधन काे लेकर कलेक्टर ने ली बैठक मिनी सचिवालय सभागार में आपदा प्रबंधन व सहायता के संबंध में कलेक्टर सौरभ स्वामी की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में कलेक्टर ने एनडीआरएफ, एसडीआरएफ तथा सिविल डिफेंस के कामाें की समीक्षा की। आपदा से पहले किस तरह से प्रबंधन एवं सुरक्षा उपाय किए जा सकें, इसकी जानकारी दी। कंपन कमांडेंट 6 बटालियन, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, वड़ाेदरा गुजरात गृह मंत्रालय भारत सरकार के पत्र के निर्देशानुसार बैठक में 6 बटालियन एनडीआरएफ के सहायक कमांडेंट राकेश सिंह ने एनडीआरएफ टीम द्वारा किस तरह से आपदा से निपटने के लिए पूर्व अभ्यास व आपदा के दौरान किए कामाें के बारे में पीपीटी से जानकारी दी। बैठक में एडीएम गोपाललाल स्वर्णकार, सहायक कलेक्टर अभिमन्यु सिंह कुंतल, अरनोद एसडीएम जीतू कुलहरी, धरियावद एसडीएम बजरंग स्वामी, पीपलखूंट एसडीएम हुक्मीचन्द रोहलानिया, तहसीलदार, विकास अधिकारी सहित संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...